बैन के बाद TikTok की सफाई, भारतीय यूजर्स का डाटा चीन की सरकार को नहीं दिया

TikTok ने यह भी कहा कि अगर भविष्य में भी किसी ने हमसे डाटा शेयर करने को कहा तो हम नहीं करेंगे
अपडेटेड Jun 30, 2020 पर 16:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत सरकार ने सोमवार रात TikTok सहित 59 चाइनीज ऐप्स पर बैन लगा दिया है। इसके बाद कंपनी ने मंगलवार को कहा है कि TikTok ने किसी भी भारतीय यूजर्स की जानकारी चीन या दूसरे विदेशी सरकार के साथ साझा नहीं की है। TikTok इंडिया के हेड निखिल गांधी ने एक बयान जारी करके कहा, "हमें इस मामले से जुड़े सरकारी अधिकारियों ने बातचीत के लिए बुलाया था और हमें अपनी सफाई पेश करने को कहा था।" गांधी ने कहा, "TikTok भारतीय नियमों के मुताबिक, डाटा प्राइवेसी और सिक्योरिटी की शर्तों का पालन करता रहा है। इसने भारतीय यूजर्स की जानकारी चीन या किसी विदेशी सरकार को नहीं दी है।" TikTok ने यह भी कहा कि अगर हमसे भविष्य में भी ऐसा करने को कहा गया तो हम नहीं करेंगे।


TikTok की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है, "यह 14 भाषाओं में उपलब्ध है ताकि लाखों यूजर्स, कलाकार, एजुकेटर्स, स्टोरी टेलर्स अपनी भाषा में परफॉर्म करके अपनी रोजी रोटी चला सके। इनमें से कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल किया है।"


भारत की मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ने इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट 69A का इस्तेमाल करते हुए चाइनीज ऐप्स पर पाबंदी लगाई है। रकार ने कहा, "यह कदम भारत के करोड़ों मोबाइल और इंटरनेट यूजर्स के हितों की सुरक्षा के लिए किया गया है। इस फैसले का मकसद इंडियन साइबरस्पेस की सुरक्षा सुनिश्चित करना है।" सरकार की तरफ से जारी रिलीज में कहा गया है कि 130 करोड़ भारतीयों के डाटा की सुरक्षा के लिए यह कदम उठाया गया है।


सरकार के नए फैसले के बाद प्ले स्टोर से यह ऐप हट गया है जबकि जिन लोगों के पास पहले से ही यह डाउनलोड है उनका ऐप काम कर रहा है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।