गलवान झड़प: भारत ने चीन के सैनिकों को बंदी बनाया था, बाद में रिहा किया: वीके सिंह

वीके सिंह ने कहा, 15 जून को झड़प के दौरान कुछ भारतीय सैनिक चीन और चीन के सैनिक हमारी सीमा में आ गए थे
अपडेटेड Jun 22, 2020 पर 08:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लद्दाख के गलवान वैली में सोमवार 15 जून की आधी रात भारत और चीन के सेना में हुई हिंसक झड़प के बाद सीमा पर तनाव का माहौल बना हुआ है। इस मामले में अब रोड ट्रांसपोर्ट एवं हाइवे राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा है कि पिछले हफ्ते हुई मुठभेड़ के बाद भारत ने कुछ चाइनीज सैनिकों को बंदी बनाया था लेकिन बाद में उन्हें रिहा कर दिया। वीके सिंह पूर्व आर्मी चीफ रह चुके हैं। ABP न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि 15 जून को हुई झड़प के दौरान कुछ भारतीय सैनिक चीन की सीमा में चले गए थे जबकि कुछ चाइनीज सैनिक भारत की सीमा में आ गए थे। उन्होंने कहा कि मैंने मीडिया में ऐसी खबरें देखी थी कि चीन ने हमारे सैनिक छोड़ दिए हैं।


लाइव मिंट के मुताबिक, सिंह ने कहा, "ठीक इसी तरह हमने भी उन चाइनीज सैनिकों को रिहा कर दिया जो हमारी तरफ आ गए थे।" उन्होंने कहा कि अगर हमारे 20 सैनिक मारे गए तो उनकी तरफ मारे गए सैनिकों की संख्या और ज्यादा है। सिंह ने कहा, "हमारा अनुमान है कि करीब 43 चाइनीज सैनिक मारे गए हैं।"


गुरुवार को चीन ने 10 भारतीय सैनिकों को रिहा किया था। इनमें 4 वो अफसर भी शामिल हैं जिन्हें 15 जून को हुई झड़प के दौरान पकड़ लिया गया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।