असम-मिजोरम सीमा पर झड़प में 6 जवानों की मौत, अमित शाह ने दिए विवाद सुलझाने के निर्देश

अमित शाह ने असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से बात कर उनसे विवाद को सुलझाने का रास्ता खोजने को कहा है
अपडेटेड Jul 27, 2021 पर 08:50  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Assam-Mizoram Border Violence: असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद का मामला बढ़ता जा रहा है। सोमवार को पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि मिजोरम-असम की सीमा पर अज्ञात बदमाशों द्वारा किसानों की आठ झोपड़ियां जला दिए जाने से तनाव पैदा हो गया, जो अब बढ़ गया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में शिलांग में पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक के एक दिन बाद यह घटना हुई है। बैठक में सीमा मुद्दे पर चर्चा हुई।


इस बीच, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने बताया है कि सीमा पर झड़प के दौरान राज्य पुलिस के छह जवानों की मौत हो गई है। मुख्यमंत्री के मुताबिक, जवानों की जान राज्य की सीमा की रक्षा करते हुए गई।


उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि मैं बेहद पीड़ा के साथ जानकारी दे रहा हूं कि असम पुलिस के छह बहादुर जवानों ने असम-मिजोरम सीमा पर हमारे राज्य की संवैधानिक सीमा की रक्षा करते हुए अपनी जान कुर्बान कर दी है। मारे गए लोगों के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।



Bitcoin के प्राइस में 20 प्रतिशत की तेजी, छह सप्ताह के हाई पर


दोनों राज्यों के बीच लंबे समय से चले आ रहे जमीन विवाद को लेकर जारी हिंसा के बीच अमित शाह (Amit Shah) ने सोमवार को असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से बात की और उनसे विवाद को सुलझाने का रास्ता खोजने को कहा। सूत्रों के मुताबिक, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा दोनों ने आश्वासन दिया है कि स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए कदम उठाए जाएंगे।


सीमावर्ती इलाकों से गोलीबारी और सरकारी गाड़ियों पर हमले की भी खबरें हैं। मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (उत्तरी रेंज) लालबियाकथांगा खियांगते ने पीटीआई से कहा कि विवादित क्षेत्र में ऐटलांग नदी के पास कम से कम आठ झोपड़ियों में रविवार की रात साढ़े 11 बजे आग लगा दी गई। उन्होंने बताया कि इन झोपड़ियों में कोई नहीं था।


उन्होंने बताया कि ये झोपड़ी असम के नजदीकी सीमावर्ती गांव वायरेंगटे के किसानों की है। खियांगते ने कहा कि झोपड़ी मालिकों की शिकायत पर वायरेंगटे थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है। सूत्रों के मुताबिक, अमित शाह के निर्देश के बाद दोनों राज्यों के पुलिस बल विवादित स्थल से लौट गए हैं।


आपको बता दें कि जून से मिजोरम-असम की सीमा पर तनाव जारी है, जब असम पुलिस ने वायरेंगटे से करीब पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित ऐटलांग हनार इलाके पर कथित तौर पर नियंत्रण कर लिया और पड़ोसी राज्य पर इसकी सीमा का अतिक्रमण करने का आरोप लगाया।


मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांगा (Zoramthanga) ने ट्विटर पर सोमवार को सीमा पर पत्थरबाजी करते लोगों का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मदद मांगी, वहीं दूसरी तरफ असम पुलिस ने घटना के लिए मिजोरम के उपद्रवियों को जिम्मेदार बताया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।