उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत, 36 घायल

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मरने वालों के लिए 10-10 लाख रुपए मुआवजे की मांग की है
अपडेटेड May 16, 2020 पर 18:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार सुबह ट्रक और DCM मेटाडोर में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई जबकि 36 अन्य मजदूर घायल हो गये। इनमें से 14 गंभीर रूप से घायल मजदूरों को सैफेई इटावा के PGI में भर्ती कराया गया है। इन दोनों वाहनों में ज्यादातर मजदूर पश्चिम बंगाल और झारखंड के थे।


कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल के मुताबिक, शनिवार सुबह एक DCM मेटाडोर दिल्ली से मजदूरों को लेकर आ रही थी। इनमें से कुछ मजदूर औरैया और कानपुर देहात मार्ग पर मेटाडोर को रोककर सड़क किनारे एक चाय की दुकान पर चाय पी रहे थे। तभी राजस्थान के जयपुर से मजदूरों को लेकर आ रहे एक ट्रक ने इस मेटाडोर को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि दोनों वाहन सड़क किनारे गड्ढे में जा गिरे। उन्होंने बताया कि इस हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई जबकि 36 मजदूर घायल हो गए।


अखिलेश यादव ने कहा, यह हादसा नहीं हत्या


इस घटना पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि यह "हादसा नहीं बल्कि हत्या" है। उन्होंने ट्वीट करके कहा, "उप्र के औरैया में सड़क हादसे में 24 से भी अधिक ग़रीब प्रवासी मज़दूरों की मौत पर अवर्णनीय दुख। घायलों के लिए दुआएं। सब कुछ जानकर... सब कुछ देखकर भी... मौन धारण करने वाले हृदयहीन लोग और उनके समर्थक देखें कब तक इस उपेक्षा को उचित ठहराते हैं। ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं।"


एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि घर लौट रहे प्रवासी मज़दूरों के मारे जाने की ख़बरें दिल दहलानेवाली हैं। मूलत: ये वो लोग हैं जो घर चलाते थे। इसलिए समाजवादी पार्टी प्रदेश के प्रत्येक मृतक के परिवार को एक लाख रुपये की मदद पहुंचाएगी। नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए निष्ठुर भाजपा सरकार भी प्रति मृतक 10 लाख रुपये की राशि दे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।