Ayodhya Land Case: 'गलत हाथों में चली गई राम जन्मभूमि', महंत धर्म दास ने भी उठाए राम मंदिर ट्रस्ट पर सवाल

राम मंदिर मामले में पक्षकार रहे महंत धर्म दास ने भी आरोप लगाया है कि अयोध्या के लोगों को बाहर निकालने के लिए जमीन की कीमत बढ़ाई जा रही है
अपडेटेड Jun 18, 2021 पर 16:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Mandir) के लिए जमीन खरीद "घोटाले" में चल रहे विवाद के बीच निर्वाणी अनी अखाड़ा के प्रमुख महंत धर्म दास ने ट्रस्ट पर सवाल उठाते हुए उस पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। राम मंदिर भूमि विवाद मामले में पक्षकार रहे महंत धर्म दास (Dharam Das) ने भी आरोप लगाया है कि अयोध्या के निवासियों को बाहर निकालने के लिए जमीन की कीमतें बढ़ाई जा रही हैं।


महंत धर्म दास ने News18 से खास बातचीत में कहा, "भगवान के नाम पर जो कुछ भी दिया जाता है, वह भगवान के नाम पर ही होना चाहिए। सब कुछ भगवान राम के नाम पर होना चाहिए। जो ट्रस्ट बनाया गया है वह भ्रष्ट है और सुप्रीम कोर्ट की इच्छा के अनुसार नहीं बनाया गया है। लोगों ने अपने निहित स्वार्थों के लिए इस ट्रस्ट का गठन किया, इसलिए इतना बड़ा घोटाला हो रहा है।"


अयोध्या में भूमि खरीद "घोटाले" की जांच के लिए अब सरकार पर भी दबाव बढ़ रहा है। विपक्ष ने उन संतों के साथ इस कथित घोटाले को उजागर किया था, जिन्हें ट्रस्ट में शामिल नहीं किया गया था। साथ ही इनकी तरफ से लेन-देन पर भी सवाल उठाया गया था और इस मामले को लेकर राम मंदिर ट्रस्ट के अंदर भी कुछ बेचैनी नजर आ रही है।


महंत धर्म दास ने सवाल उठाया, "जो पैसा दान किया गया वह राम मंदिर, संतों की सेवा और गौ माता की सेवा और अच्छे काम के लिए था। पैसा जमीन खरीदने, होटल बनाने और व्यापार करने के लिए नहीं आया है, ऐसे काम करने वाले लोग भगवान राम को नहीं मानते हैं।"


रामजन्मभूमि के जमीन मामले में गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने मांगी रिपोर्ट


"मैं डीएम, रजिस्ट्रार से अनुरोध करता हूं कि अयोध्या के लोगों को विकास कार्य कैसे हो रहा है, इसकी जानकारी दें। क्या आप मुझे बता सकते हैं कि क्या कभी अयोध्या में जमीन का एक टुकड़ा भी इतनी ऊंची कीमतों पर बेचा गया है?"


उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि अयोध्या के लोगों को बाहर निकालने के लिए जमीन की कीमत बढ़ाई जा रही है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के लिए जो पैसा आया है, उस पैसे का दुरुपयोग पाप है।


ट्रस्ट द्वारा फकीरे राम मंदिर और कौशल्या भवन का अधिग्रहण करने के सवाल पर महंत धर्म दास ने कहा, "ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है, पीएम कहां हैं और हमारे सीएम क्या कर रहे हैं? अयोध्या के संत क्या कर रहे हैं? अयोध्या के लोगों को ऐसा लग रहा है कि जैसे राम जन्मभूमि गलत हाथों में चली गई है।"


उन्होंने कहा, "ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष को पता नहीं है कि ट्रस्ट में कितना पैसा आया है। वे सिर्फ जमीन की कीमत बढ़ाना चाहते हैं और अयोध्या के लोगों को बाहर निकालना चाहते हैं।"


उन्होंने आगे कहा, "70 एकड़ जमीन जो आपके कब्जे में है, उस पर आपने अभी तक काम शुरू नहीं किया है। ये अशोक सिंघल थे, जो एक महान व्यक्ति थे और उनकी वजह से ही हम सभी राम मंदिर आंदोलन में शामिल हुए।" उन्होंने कहा कि वह बहुत जल्द पूरे भारत के संतों का प्रतिनिधित्व करने वाले 18 अखाड़ों की बैठक बुला रहे हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।