CBI ने रोज वैली चिट फंड के मालिक की पत्नी शुभ्रा कुंडू को किया गिरफ्तार

शुभ्रा कुंडू के पति और रोज वैसी के मालिक गौतम कुंडू को जांच एजेंसी करोड़ों रुपये के घोटाले के आरोप में पहले से ही गिरफ्तार कर चुकी हैं
अपडेटेड Jan 16, 2021 पर 09:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI)  ने शुक्रवार को चिट फंड (Chit Fund) कंपनी रोज वैली (Rose Valley) के मालिक गौतम कुंडू की पत्नी शुभ्रा कुंडू (Subhra Kundu) को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले जांच एजेंसी गौतम कुंडू को भी करोड़ो रुपये के घोटाले के आरोप में गिरफ्तार कर चुकी है। शुभ्रा कुंडू बंगाली फिल्म अभिनेत्री भी हैं। इनकों करोड़ों रुपये के घोटाले के केस में गिरफ्तार किया गया है। चिट फंड कंपनी रोड वैली घोटाले की जांच ED भी कर रही है।


17,000 हजार करोड़ का रोज वैली घोटाला बंगाल का सबसे बड़ा घोटाला माना जाता है। साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने इस घोटाले की जांच CBI को सौंप दी थी। इस घोटाले के मामले में जांच एजेंसी ने साल 2017 में TMC के दो सांसद, सुदीप बंदोपाध्याय और तापस पाल को भी गिरफ्तार किया था। तापस पाल की पिछले साल मृत्यु हो गई थी। उस समय वह जमानत पर रिहा थे। 


शुभ्रा कुंडू को साउथ कोलकाता के उनके अपार्टमेंट से गिरफ्तार किया गया है। एजेंसी उन्हें पूछताछ करने के लिए अपने दफ्तर ले गई है। CBI और ED उनसे 2015 से लेकर अब तक कई बार पूछताछ कर चुकी हैं। उनके पति को भी इस घोटाले के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था। वह अभी भी न्यायिक हिरासत में हैं।


जांच एजेंसी CBI के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि शुभ्रा कुंडू लंबे समय से शक के घेरे में थी। वह रोज वैली की दो सिस्टर कंपनियों की निदेशक भी थीं। हालांकि यह कंपनियों आधिकारिक रूप से बंद हैं। लेकिन जांच में पाया गया है कि इनके खातों से भी लेन-देन किया गया है। अधिकारी ने कहा कि पूछताछ के दौरान शुभ्रा कुंडू कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाई हैं।


पश्चिम बंगाल में CBI-ED कई हाई प्रोफाइल घोटालों की जांच कर रहे हैं जिनमें शारदा घोटाला भी शामिल है लेकिन अभी तक ट्रायल शुरू नहीं हुआ है। पिछले साल कोलकाता उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस ने इन मामलों की सुनवाई के लिए 2 न्यायाधीश पीठ का गठन किया था। जिसकी सुनवाई 25 सितंबर से शुरू हुई थी।


TMC सांसद और पार्टी के प्रवक्ता सौगत रॉय ने शुभ्रा कुंडू की गिरफ्तारी पर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने CBI को जांच करने के लिए कहा था। जांच एजेंसी CBI अपनी ड्यूटी कर रही है। दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल BJP ने इस गिरफ्तारी का स्वागत किया है। बंगाल BJP ने कहा है कि चिट फंड मामलों में शामिल सभी प्रभावशाली और राजनेताओं को गिरफ्तार किया जाना चाहिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।