चीन के प्रेसिडेंट शी ज़िनपिंग ने सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा

ज़िनपिंग का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच 20 दिनों से तनातनी है
अपडेटेड May 27, 2020 पर 09:03  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चीन के राष्ट्रपति शी ज़िनपिंग (Xi Jinping) ने अपनी सेना को युद्ध की तैयारियां तेज करने को कहा है। हालात बिगड़ने की आशंका को देखते हुए चीन के राष्ट्रपति ने मंगलवार को आदेश दिया कि देश की संप्रभुता की रक्षा के लिए सेना को तैयार रहना होगा।


66 साल के ज़िनपिंग ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (CPC) के जनरल सेक्रेटरी और 20 लाख सैनिकों वाली सेना के हेड भी हैं। ज़िनपिंग ने चीन के संसद सत्र के दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) और पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स के चीफ के साथ बैठक में यह जानकारी दी।


चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक, शी ने सेना को आदेश दिया कि वे सबसे बुरे हालात को सोचकर उसके हिसाब से युद्ध के लिए खुद को तैयार करें। ज़िनपिंग ने कहा कि सेना अपना तैयारियां और ट्रेनिंग बढ़ाए।


ज़िनपिंग का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत और चीन की सीमा पर (LAC यानी Line of actual Control) भारत और चीन के बीच करीब 20 दिनों से तनातनी जारी है।


पिछले कुछ दिनों में लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारत और चीन की सेनाओं ने अपनी मौजदूगी और बढ़ाई है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनातनी के दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी ज़िनपिंग का यह बयान चीन की कठोरता का साफ संकेत है। भारत और चीन के बीच 3500 किलोमीटर लंबी LAC है जो दोनों के बीच सीमा की तरह काम करती है।


अमेरिका के साथ भी चीन का टकराव


साउथ चाइन सी और ताइवान के इलाकों में अमेरिकी सेना के गश्त बढ़ाने से भी अमेरिकी-चीनी सैनिकों के बीच तनाव बढ़ा है। कोरोनावायरस महामारी को लेकर भी अमेरिका और चीन के बीच टकराव बढ़ा है।


22 मई को अपना रक्षा बजट बढ़ाकर चीन डिफेंस पर खर्च करने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश बन गया है। पहले नंबर पर अमेरिका है। चीन ने 22 मई को अपना डिफेंस बजट 6.6 फीसदी बढ़ाकर 179 अरब डॉलर कर लिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।