दिल्ली में कोरोना की नई गाइडलाइंस जारी, मेट्रो, सिनेमा, शादी समारोह के लिए जानिए नए नियम

नई गाइडलाइंस में केजरीवाल सरकार ने सामाजिक, राजनीतिक, स्पोर्ट्स, एंटरटेनमेंट, सांस्कृतिक धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है
अपडेटेड Apr 12, 2021 पर 09:13  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश की राजधानी दिल्ली में चिंता का माहौल है। कोरोना वायर संक्रमण पर काबू पाने के लिए केजरीवाल सरकार ने नई गाइडलाइंस जारी कर दी है। इस गाइडलाइंस के तहत केजरीवाल सरकार ने सामाजिक, राजनीतिक, स्पोर्ट्स, एंटरटेनमेंट, सांस्कृतिक धार्मिक सभाओं पर रोक लगा दी है। सरकार की यह गाइलाइंस 30 अप्रैल तक लागू रहेगी।


इस नए आदेश के तहत सिनेमा, थिएटर, मल्टीप्लेक्स में 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलेने की अनुमति दी गई है। इसके अलावा राष्ट्रीय और इंटरनेशलन कार्यक्रमों में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के प्रशिक्षण (training) के मकसद को छोड़कर दिल्ली में स्वीमिंग पुल (swimming pool) भी बंद रहेंगे। 


दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro), DTC और क्लस्टर बसें (cluster buses) 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेंगी। इसमें ये भी कहा गया है कि शादी समारोह (marriage-related gatherings) में अधिक से अधिक 50 लोगों को शामिल होने की मंजूरी दी गई है। वहीं अंतिम संस्कार में अब अधिकतम 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। रेस्टोरेंट और बार में 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। यानी अगर 100 लोग बैठ सकते हैं तो 50 लोगों को ही बैठने की अनुमति दी गई है।


DDMA के नए आदेश में कहा गया है कि स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर बंद रहेंगे। इसके साथ ही कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों को परीक्षा या प्रैक्टिकल संबंधी गाइडेंस के लिए माता-पिता की सहमति के आधार पर शैक्षणिक संस्थान बुला सकते हैं।


इसके अलावा दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (Delhi Disaster Management Authority -DDMA) ने कहा कि महाराष्ट्र से फ्लाइट के जरिए दिल्ली आने वाले यात्रियों के लिए नेगेटिव RT-PCR रिपोर्ट जरूर दिखानी होगी, जो कि 72 घंटे पुरानी हो। बिना नेगेटिव रिपोर्ट के दिल्ली आने वाले यात्रियों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन रहना होगा।  


दिल्ली सरकार के सभी दफ्तर/ऑटोनोमस बॉडी/ PSU / कॉरपोरेशन/ और लोकल बॉडी में ग्रेड -1 या इसके बराबर के अधिकारी अपनी 100% क्षमता पर काम करेंगे, जबकि बाकी स्टाफ 50% क्षमता के साथ काम करेगा। हालांकि स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, होमगार्ड, सिविल डिफेंस, फायर और इमरजेंसी या जिला प्रशासन के लोग बिना किसी पाबंदी के काम करते रहेंगे।


प्राइवेट दफ्तरों और ऑर्गेनाइजेशन को सलाह दी गई है कि वह अलग-अलग टाइमिंग पर अपने कर्मचारियों को बुलाएं जिससे सारा स्टाफ एक समय पर ऑफिस में इक्कठा ना हो। वर्क फ्रॉम होम जितना हो सके उतना किया जाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।