Coronavirus: दिल्ली में अब 100 फीसदी क्षमता के साथ काम करेंगे सरकारी दफ्तर, DDMA का निर्देश

DDMA ने दिल्ली सरकार के 50 फीसदी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम के आदेश को तत्काल वापस ले लिया
अपडेटेड Jan 16, 2021 पर 17:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली (Delhi) में कोरोनावायरस (Coronavirus) मामलों और पॉजिटिविटी रेट (Positivity Rate) में लगातार गिरावट के साथ दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने दिल्ली सरकार के 50 फीसदी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम के आदेश को तत्काल वापस ले लिया और अब सभी कर्मचारियों को दफ्तर आने का आदेश दिया गया है। हालांकि, इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, जैस सभी कोविड गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा।


गुरुवार को जारी किए गए नए आदेश में कहा गया कि DDMA ने Covid-19 स्थिति की समीक्षा की और पाया कि अब राजधानी में पॉजिटिविटी रेट में काफी गिरावट आ गई है, इसलिए ये निर्णय लिया गया है कि दिल्ली सरकार के सभी कार्यालय, स्वायत्त निकाय, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, निगम और स्थानीय निकाय में सभी कर्मचारी दफ्तर आना शुरू करें।


दिल्ली पुलिस कमिश्नर के अलावा, सभी सचिव और दिल्ली सरकार के विभागों के प्रमुख, नगर निगमों और स्थानीय निकायों के प्रमुखों और जिला मजिस्ट्रेटों को आदेश का पालन करने के लिए निर्देशित किया गया है।


बता दें कि उपराज्यपाल की अध्यक्षता वाले DDMA ने नवंबर 2020 में आदेश जारी किया था कि दिल्ली सरकार के सभी सरकारी दफ्तरों में 50 फीसदी कर्मचारी ही ऑफिस आएंगे। हालांकि, ग्रेड-वन लेवल या उससे ऊपर के अधिकारियों के लिए 100% उपस्थिति अनिवार्य थी।


कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्राइवेट सेक्टर के दफ्तरों को भी उनके समय में बदलाव और ज्यादातर कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम करने का सुझाव दिया गया था। पहले ये आदेश 31 दिसंबर, 2020 तक प्रभावी था, लेकिन बाद में इसे 31 जनवरी तक बढ़ा दिया गया था।


जब नवंबर 2020 में ये आदेश जारी किया गया था, तो दिल्ली में कोरोना के एक दिन में सबसे ज्यादा 4,998 नए मामले देखे गए थे और पॉजिटिविटी रेट  7.2 फीसदी थी। जब राजधानी तीसरी कोरोना वेव का सामना कर रही थी, उस वक्त कुल एक्टिव केस की संख्या 36,578 थी। इसकी तुलना में गुरुवार को एक्टिव केस की संख्या 2,937 थी। इसके अलावा दिल्ली में पिछले आठ महीनों में सबसे कम नए मामले देखे गए, जबकि पॉजिटिविटी रेट भी 0.4 फीसदी के सबसे निचले स्तर पर रही।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।