Maharashtra में 15 अप्रैल से लग सकता है Lockdown, रात 8.30 बजे CM उद्धव का संबोधन

राज्य सरकार ने एक टास्क फोर्स का गठन कर सभी राजनीतिक और व्यापारिक निकायों के साथ विचार-विमर्श किया है
अपडेटेड Apr 13, 2021 पर 20:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र (Maharashtra) में 15 अप्रैल की आधी रात से लॉकडाउन (Lockdown) लग जाएगा, सूत्रों ने News18 को ऐसी जानकारी दी है। इसमें आगे बताया गया है कि राज्य-गठित टास्क फोर्स और सभी राजनीतिक और व्यापार निकायों के साथ विचार-विमर्श में 15 दिनों के लॉकडाउन या 21 दिनों के लिए बंद करने का विकल्प दिया है। सूत्रों ने कहा कि उद्धव ठाकरे सरकार आज रात इस तरह के फैसले की घोषणा कर सकती है।


न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) आज रात 8.30 बजे राज्य को संबोधित करेंगे। संभावना है कि इस दौरान वे लॉकडाउन की घोषणा कर सकते हैं।


रिपोर्ट में कहा गया है कि संरक्षक मंत्री असलम शेख ने बताया कि महाराष्ट्र लॉकडाउन के दिशानिर्देशों को "ब्रेक द चेन" अभियान के हिस्से के रूप में अंतिम रूप दिया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि निर्णय अचानक लॉकडाउन पर नहीं होगा। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के प्रसार से निपटने के लिए बेड बढ़ाए जा रहे हैं।


दूसरी लहर में बढ़ रहे मामले चिंताजनक


वहीं केंद्र ने मंगलवार को कहा कि कोरोनोवायरस बीमारी (Covid-19) की दूसरी लहर पिछले सबसे ज्यादा स्पाइक को पार कर गई है और संक्रमण का अब और ऊपर की तरफ बढ़ना चिंता का कारण है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बताया कि दूसरी लहर में भारत के Covid-19 मामलों में प्रवृत्ति "चिंताजनक" है।


उन्होंने बताया कि पंजाब में मध्य फरवरी में हर रोज 300 मामले सामने आते थे, अब यह बढ़कर 3,000 हो गए हैं। कर्नाटक में औसतन हर दिन 404 मामले सामने आते थे अब ये बढ़कर 7,700 हो गए हैं। फरवरी मध्य में मध्य प्रदेश में औसतन 267 मामले आते थे, अब यह बढ़कर 4,900 हो गए हैं। तमिलनाडु में औसतन 450 मामले आते थे अब यह बढ़कर 5,200 हो गए है। दिल्ली में 134 मामले आते थे अब यह बढ़कर 8,104 हो गए हैं।


पालघर में ऑक्सीजन की कीम से 11 की मौत


उधर महाराष्ट्र के पालघर जिले के नाला सोपारा में गुस्साए परिजनों ने सोमवार रात दो अस्पतालों में हंगामा कर दिया, क्योंकि ऑक्सीजन की कमी के कारण कथित तौर पर वहां 11 मरीजों की मौत हो गई। हालांकि, अधिकारियों ने जोर देकर कहा कि यहां ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है।


मगर मौत ये मामल ठीक पालघर के वसई के मेयर राजीव पाटिल के एक ऑडियो मैसेज के बाद सामने आए, जिसमें कथित तौर पर मरीजों के लिए जरूरी ऑक्सीजन की भारी कमी को उजागर किया गया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।