Coronavirus News LIVE Updates: पहले चरण में 1 करोड़ फ्रंटलाइन हेल्थकेयर वर्कर्स को मिलेगी वैक्सीन

संक्रमण के कुल 91,77,841 मामलों में से 4,38,667 केस एक्टिव हैं जबकि 86,04,955 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं
अपडेटेड Nov 25, 2020 पर 13:24  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस संक्रमण की बिगड़ती हालत पर आज पीएम नरेंद्र मोदी ने उन 8 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों से मुलाकात की जहां संक्रमण सबसे ज्यादा है। बैठक में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि  प्रदूषण बढ़ने के कारण कोरोनावायरस का संक्रमण ज्यादा फैला है। और दिल्ली में 10 नवंबर को पीक निकल चुका है। वहीं महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि वह लगातार सीरम इंस्टीट्यूट के संपर्क में बने हुए हैं। अभी तक मिली खबरों के मुताबिक, पहले चरण में वैक्सीन 1 करोड़ फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स को दिया जाएगा।


हरियाणा में शादी समारोह के लिए नया नियम


हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि राज्य में संक्रमण को देखते हुए शादियों में लोगों की भीड़ को कम करने की कोशिश की जा रही है। अब बंद हॉल में ज्यादा से ज्यादा 50 मेहमान जुट सकते हैं। जबकि किसी खुली जगह पर समारोह हो रहा हो तो 100 मेहमान एकसाथ आ सकते हैं। यानी अब गुड़गांव, फरीदाबाद, रेवाड़ी, रोहतक, पानीपत और हिसार जिले में खुली जगह में 100 से ज्यादा लोग जमा नहीं हो सकते हैं। वहीं दूसरे जिलों में बंद हॉल में 100 लोग और खुली जगह पर 200 लोग जमा हो सकते हैं। यह नियम 26 नवंबर से लागू हो रहा है।


देश में कहां पहुंचा संक्रमण?


देश में लॉकडाउन शुरू हुए 246 दिन हो चुके हैं लेकिन कोरोनावायरस संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है। पिछले 24 घंटों के दौरान देश भर से Covid-19 के 37,975 नए मामले सामने आए हैं। इसी के साथ संक्रमितों की संख्या बढ़कर 91,77,841 पहुंच गई है। इस दौरान 480 लोगों की मौत हो गई। जबकि अब तक इस महामारी के कारण 1,34,218 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।


हेल्थ मिनिस्ट्री ने बताया कि संक्रमण के कुल 91,77,841 मामलों में से 4,38,667 केस एक्टिव हैं। जबकि 86,04,955  लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। देश में अभी रिकवरी रेट 93.76 फीसदी है। जबकि इस संक्रमण से जान गंवाने वालों की दर 1.46 फीसदी है।


इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के मुताबिक अब तक देश में 13,36,82,275 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं। जबकि सिर्फ 23 नवंबर को 10,99,545 सैंपल टेस्ट किए गए थे। 


दिल्ली और गुजरात में हालात बेकाबू हो रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी आज उन राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा किया है जहां संक्रमण सबसे ज्यादा है।


दिल्ली में लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने एक गाइडलाइंस जारी की है। इस गाइडलाइंस के मुताबिक, दिल्ली-NCR, गुजरात, गोवा और राजस्थान से महाराष्ट्र आने वालों के पास RT-PCR की नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट होनी चाहिए। जिनके पास यह नहीं होगा उन्हें मुंबई में दाखिल नहीं होने दिया जाएगा।


अगर आप फ्लाइट से जा रहे हैं तो 72 घंटों के भीतर और ट्रेन से जा रहे हों तो 96 घंटों के भीतर कराए गए टेस्ट की रिपोर्ट दिखाना होगा। अगर आप ड्राइव करके जा रहे हैं और आप में संक्रमण के लक्षण नजर आए तो एंटीजन टेस्ट होगा और फिर कोविड केयर सेंटर भेज दिया जाएगा। इसका पूरा खर्च आपको खुद उठाना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।