चुनिंदा रूट पर 20 मई से शुरू हो सकती है दिल्ली मेट्रो, दिल्ली में संक्रमण के मामले बढ़े

पीएम को लिखे सुझाव में केजरीवाल ने 17 मई के बाद आपात सेवा में जुटे लोगों के लिए मेट्रो चलाने की अनुमति मांगी है
अपडेटेड May 17, 2020 पर 18:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत ने ऐसे संकेत दिए हैं कि जल्दी ही दिल्ली मेट्रो शुरू हो सकती है। कुछ रिपोर्ट्स का यह भी दावा है कि 20 मई यानी लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू होने के दो दिन बाद से मेट्रो चलाई जा सकती है। हालांकि अभी इस मामले में दिल्ली सरकार ने केंद्र की अनुमति मांगी है।


दिल्ली और नोएडा के मेट्रो स्टेशन पर स्टीकर्स लगाए जा रहे हैं ताकि लोग Social Distancing का पालन करें। फरीदाबाद और गुड़गांव के मेट्रो स्टेशन पर भी यह काम चल रहा है। हालांकि शुरुआत में सभी रूट नहीं खोले जाएंगे। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कुछ रूट ही खोला जाएगा।


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी है कि सरकारी कर्मचारियों और आपात सेवा में जुटे कर्मचारियों के लिए 17 मई के बाद से दिल्ली में मेट्रो ट्रेनें चलाए जाने की इजाजत दी जानी चाहिए। प्रधानमंत्री को लिखे एक पत्र में उन्होंने सलाह दी है कि सैलून, सिनेमा हॉल, नाई की दुकानें और धार्मिक स्थलों को बंद रखा जाए।


दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) कामकाज शुरू करने की तैयारियों में जुट गया है ताकि आदेश मिलते ही वह काम शुरू कर सके। इसके तहत मेट्रो यात्रियों के शरीर का तापमान जांचने, सीटों और प्लेटफॉर्म के फर्श पर दो गज की दूरी के संबंध में स्टीकर चिपकाने आदि में जुटा हुआ है।


दिल्ली में तेजी से बढ़े मामले


राष्ट्रीय राजधानी में आज जारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की तादाद बढ़ कर 123 हो गई है, जबकि संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 8,895 पहुंच गए हैं। आंकड़ों के मुताबिक बृहस्पतिवार को दिल्ली में 472 नए मामले आए थे जो एक दिन में सबसे अधिक हैं।


केजरीवाल ने अपने पत्र में यह भी कहा है कि 17 मई के बाद लॉकडाउन में ढील दिए जाने पर Covid-19 के मामले बढ़ेंगे, लेकिन दिल्ली सरकार ने अस्पतालों में बिस्तरों, आईसीयू, एम्बुलेंस और वेंटिलेटर की पर्याप्त संख्या में व्यवस्था की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कार्यस्थलों पर आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करना और उसका उपयोग करना अनिवार्य किया जाएगा। रात नौ बजे से सुबह पांच बजे के बीच आपात सेवाओं के अतिरिक्त अन्य लोगों की आवाजाही पर पाबंदी होगी।


अपने पत्र में केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से कहा है कि 17 मई के बाद चार पहिया वाहनों में ड्राइवर के अलावा दो लोगों को बैठने और दो-पहिया वाहनों पर सिर्फ एक व्यक्ति के यात्रा करने की अनुमति दी जाए। उन्होंने अनुरोध किया है कि दिल्ली सरकार के कर्मचारियों के लिए दिल्ली मेट्रो ट्रेन सेवा सुबह साढ़े सात बजे से साढ़े दस बजे तक और शाम साढ़े पांच बजे से साढ़े आठ बजे तक चलायी जाए।


दिल्ली मेट्रो में अभी तक सामान्य दिनों में औसतन प्रतिदिन 26 लाख यात्री यात्रा करते थे। दिल्ली मेट्रो की सेवा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू और उसके बाद कोविड-19 लॉकडाउन के कारण बंद है। हालांकि, अभी तक इस संबंध में कुछ स्पष्ट नहीं है कि मेट्रो ट्रेनें कब से चलनी शुरू होंगी। इसबीच, दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने आज कहा कि यदि केंद्र अनुमति दे तो आप सरकार पूरे एहतियात के साथ शहर में सार्वजनिक परिवहन शुरू करने के लिए तैयार है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।