Delhi Police ने आतंकी मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, पाक में ट्रेनिंग ले चुके 2 आतंकी सहित 6 गिरफ्तार

गिरफ्तार किए गए 6 लोगों में से दो को मस्कट के रास्ते पाकिस्तान ले जाया गया था
अपडेटेड Sep 15, 2021 पर 06:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने उत्तर प्रदेश एटीएस के साथ मिलकर पाकिस्तान द्वारा संचालित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और पाकिस्तान से संचालित एक आतंकवादी गिरोह का पर्दाफाश कर दो आतंकवादियों सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आगे कहा कि अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का भाई अनीस इस टीम का हिस्सा था और हवाला नेटवर्क के जरिए फंडिंग की जा रही थी।


स्पेशल सेल के एक अधिकारी ने बहु-राज्यीय अभियान (Multi-State Ops) की जानकारी देते हुए कहा कि उन्हें केंद्रीय एजेंसियों से सूचना मिली थी कि देश के प्रमुख शहरों में आतंकवादी हमले करने की साजिश रची जा रही है। यह सूचना मिलने के बाद स्पेशल सेल ने डीसीपी प्रमोद कुशवाहा और एसीपी हृदय भूषण और ललित जोशी की देखरेख में एक टीम गठित की।


दिल्ली स्पेशल सीपी (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर (Neeraj Thaku) ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि मानव और तकनीकी इनपुट का विश्लेषण करने के बाद, हमने महसूस किया कि यह एक बहुत बड़ा नेटवर्क था जो विभिन्न राज्यों में फैला हुआ था। मंगलवार की सुबह हमने विभिन्न राज्यों में कई छापेमारी करके इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। इन सभी छह को दिल्ली, यूपी और महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया है।


दो दिन बाद भूपेंद्र पटेल के मंत्रियों का होगा शपथ ग्रहण, क्या नितिन पटेल डिप्टी CM बने रहेंगे?


महाराष्ट्र के रहने वाले समीर नाम के पहले व्यक्ति को कोटा से उस समय गिरफ्तार किया गया था जब वह एक ट्रेन में यात्रा कर रहा था, जबकि दो अन्य को राष्ट्रीय राजधानी में पकड़ा गया था। अधिक मानवीय और तकनीकी इनपुट से, स्पेशल सेल ने उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (Uttar Pradesh ATS) के साथ मिलकर राज्य में छापे मारे और तीन और लोगों को गिरफ्तार किया।


ठाकुर ने कहा कि गिरफ्तार किए गए 6 लोगों में से दो को मस्कट के रास्ते पाकिस्तान ले जाया गया, जहां उन्हें एके-47 सहित विस्फोटक और हथियारों का इस्तेमाल करने के लिए ट्रेंड किया गया। स्पेशल सेल के अधिकारी ने कहा कि ट्रेनिंग 15 दिनों तक जारी रहा, जिसके बाद वे मस्कट लौट आए। उन्होंने खुलासा किया कि पाकिस्तान में उनके ट्रेनिंग के दौरान उनके संगठन में 14-15 बंगाली भाषी व्यक्ति भी थे।


ठाकुर ने कहा कि ऐसा लगता है कि सीमा पार से आतंकी ऑपरेशन को बारीकी से समन्वित किया गया था। उन्होंने कहा कि मॉड्यूल को दो टीमों में बांटा गया था। अधिकारी ने कहा कि एक टीम अंडरवर्ल्ड को दी गई थी, जिसे दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम द्वारा समन्वित किया जा रहा था। उनका काम सीमा पार से हथियार भारत में लाना और उन्हें छुपाकर रखना था। दूसरी टीम को हवाला के माध्यम से पैसे की व्यवस्था करने के लिए कहा गया था।


स्पेशल सेल ने बताया कि गिरफ्तार किए गए 6 में से एक व्यक्ति को देश के प्रमुख शहरों में उन स्थानों की पहचान करने का काम दिया गया है, जहां वे आगामी त्यौहारी सीजन के दौरान आतंकी हमले कर सकते हैं। अधिकारी ने कहा कि स्पेशल सेल संदिग्धों से पूछताछ कर रहा है और आगे की जांच जारी है।


गिरफ्तार लोगों की पहचान महाराष्ट्र के जान मोहम्मद शेख (Jaan Mohammad Shaikh, 47), दिल्ली के ओसामा (Osama, 22), यूपी के रायबरेली का रहने वाला मूलचंद (Moolchand, 47), इलाहाबाद के जीशान कमर (Zeeshan Qamar, 28), बहराइच के मोहम्मद अबू बकर (Mohd Abu Bakar, 23) और लखनऊ से मोहम्मद आमिर जावेद (Mohd Amir Javed, 31) के रूप में हुई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।