दिल्ली के कंटेनमेंट ज़ोन में घर-घर जाकर 6 जुलाई तक जांच करेगी सरकार

दिल्ली में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले 66,000 से ज्यादा हो चुके हैं, संक्रमण रोकने के लिए सरकार ने ये प्लान बनाया
अपडेटेड Jun 25, 2020 पर 10:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली में लगातार बढ़ते कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण की वजह से दिल्ली सरकार ने इससे निपटने का नया प्लान बनाया है। सरकार ने कहा है कि 6 जुलाई तक दिल्ली में घर-घर जाकर लोगों की जांच की जाएगी। मंगलवार को दिल्ली में कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 66,000 के पार जा चुकी है। लगातार बढ़ते संक्रमण के कारण महाराष्ट्र के बाद दिल्ली अब दूसरे नंबर पर है। तमिलनाडु अब तीसरे नंबर पर आ गया है। Covid-19 के संक्रमण से निपटने के लिए "Delhi Covid Response Plan" के तहत कंटेनमेंट ज़ोन पर फोकस बढ़ाया जाएगा। इस प्लान को 26 जून को रीडिजाइन किया गया है ताकि कंटेनमेंट ज़ोन के हर घर में जाकर जांच हो सके। दिल्ली सरकार ने फिलहाल यह काम 6 जून तक खत्म करने की योजना बनाई है। दिल्ली में कितने लोग संक्रमित हैं इसका पता लगाने के लिए 27 जून से सेरो सर्वे शुरू होने वाला है जो 10 जुलाई तक खत्म होगा। यह सर्वे NCDC के साथ सहयोग से किया जाएगा।


दूसरी तरफ Home Quarantine को लेकर  LG  अनिल बैजल और दिल्ली सरकार में ठनी हुई है। डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि दो दिन पहले बैजल से यह मांग की गई थी कि वह Home Quarantine की सुविधा दोबारा शुरू करें लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया है।


पिछले हफ्ते उपराज्यपाल अनिल बैजल ने एक आदेश जारी किया था कि कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों के लिए 5 दिन संस्थागत Quarantine सेंटर में रहना अनिवार्य कर दिया था। सिसोदिया ने कहा है कि नए नियम से मरीजों में कंफ्यूजन पैदा हो रहा है और साथ ही हॉस्पिटल पर दबाव बढ़ रहा है।


मनीष सिसोदिया ने कहा था कि एक अनुमान के मुताबिक, जुलाई अंत तक दिल्ली में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5.5 लाख हो जाएगी। ऐसे में दिल्ली सरकार चाहती है कि होम Quarantine की  अनुमति दी जाए ताकि अस्पतालों पर बोझ कम हो।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।