भारत-चीन सीमा पर तनाव बढ़ा, पीएम ने डोवाल, सेना चीफ के साथ की बैठक

अजीत डोवाल लद्दाख के साथ-साथ उत्तरी सिक्किम और उत्तराखंड पर करीबी नजर बनाए हुए हैं
अपडेटेड May 27, 2020 पर 10:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजित डोवाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत और तीनों सेना के चीफ के साथ मुलाकात की। चीन के साथ लद्दाख की सीमा पर लगातार बढ़ रहे तनाव की वजह की वजह से यह बैठक हुई है।


मिलिट्री चीफ ने पीएम मोदी को पूर्वी लद्दाख की सीमा के हालात के बारे में बताया। सूत्रों के हवाले से PTI ने लिखा है कि इस बैठक में मिलिट्री रिफॉर्म्स और भारत की सैन्य क्षमता को बेहतर बनाने को लेकर बातचीत हुई। हालांकि इस बैठक के बारे में किसी भी अधिकारी ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।


पीएम मोदी के साथ बैठक करने से पहले इंडियन आर्मी ने पैंगोग सो लेक, गलवान वैली, डेमचोक और दौलत बेग ओलदी के हालात के बारे में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत की थी। इन्हीं इलाकों में पिछले 20 दिनों से भारत और चीन के सैनिकों के बीच तनाव बढ़ा है।


आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, डोवाल लद्दाख के साथ-साथ उत्तरी सिक्किम और उत्तराखंड पर करीबी नजर बनाए हुए हैं। बिजनेस स्टैंडर्ड के मुताबिक, नाम जाहिर ना करने की शर्त पर एक अधिकारी ने बताया, "चीन भारत पर दबाव की जो रणनीति बना रहा है वह काम नहीं करेगा। हम LAC पर पहले जैसे हालात चाहते हैं।"


पिछले कुछ दिनों में लद्दाख और उत्तरी सिक्किम में भारत और चीन की सेनाओं ने अपनी मौजदूगी और बढ़ाई है। दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनातनी के दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी ज़िनपिंग का यह बयान चीन की कठोरता का साफ संकेत है। भारत और चीन के बीच 3500 किलोमीटर लंबी LAC है जो दोनों के बीच सीमा की तरह काम करती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।