Black Fungus को प्याज से जोड़ना पूरी तरह गलत, एक्सपर्ट्स ने कहा स्टेरॉइड लेना है बड़ा कारण

केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस बीमारी पर नियंत्रण के लिए जल्द कदम उठाने को कहा है
अपडेटेड May 27, 2021 पर 18:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इन दिनों एक फेसबुक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि  mucormycosis बीमारी का कारण बनने वाली फंगस की मौजूदगी प्याज की परत या रेफ्रीजरेटर के अंदर दिखाई देने वाली ब्लैक फिल्म में होती है। एक्सपर्ट्स ने इसे पूरी तरह  गलत बताया है और उनका कहना है कि ब्लैक फंगस का बड़ा कारण लंबे समय तक स्टेरॉइड लेना है।


देश में mucormycosis या ब्लैक फंगस कही जाने वाली बीमारी बढ़ रही है। कोरोना की दूसरी लहर से हो रही तबाही के बीच देश में इससे 200 से अधिक लोगों की मृत्यु हुई है। केंद्र सरकार ने गुरुवार को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को भी इस बीमारी पर नियंत्रण करने के लिए जल्द कदम उठाने को कहा है।


AIIMS के डायरेक्टर डा रणदीप गुलेरिया ने कहा कि इस बीमारी को रोकने के लिए तेजी से काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले कम होने के साथ ही यह फंगल इंफेक्शन भी घट सकता है।


ब्लैक फंगस की शुरुआत पर उनका कहना था कि यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि mucormycosis एक ब्लैक फंगस नहीं है। यह गलत धारणा है। इसमें रक्त प्रवाह कम होने के कारण स्किन का रंग कुछ बदल जाता है और इससे ऐसा लग सकता है कि वह स्थान काला हो गया है। इसी वजह से इसे ब्लैक फंगस कहा जाता है।


उन्होंने बताया, "अगर कोई व्यक्ति लंबे समय तक स्टेरॉइड लेता है या उसे डायबिटीज जैसी बीमारी है तो उसे फंगल इंफेक्शन होने का जोखिम बढ़ जाता है। ऐसे लोगों को अधिक सतर्क रहने और अपनी डायबिटीज को नियंत्रण में रखने की जरूरत है।"


इस बीमारी के इलाज के लिए बहुत से राज्यों में दवाओं की भी कमी है। केंद्र सरकार इन दवाओं की सप्लाई बढ़ाने की कोशिश कर रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।