Facebook Row: अंखी दास का फेसबुक से इस्तीफा, पॉलिटिकल कॉन्टेंट रेगुलेशन विवाद बनी वजह

फेसबुक की पब्लिक पॉलिसी की इंडिया हेड अंखी दास ने अपने इस्तीफे में कहा है कि अब वो पब्लिक सर्विस करेंगी
अपडेटेड Oct 28, 2020 पर 10:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फेसबुक (Facebook) को लेकर भारत (India) में जारी राजनीतिक घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। BJP और कांग्रेस के बीच जारी आरोप-प्रत्यारोप के बीच फेसबुक इंडिया (Facebook India) की पब्लिक पॉलिसी की हेड आंखी दास (Ankhi Das) ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। न्यूज एजेंसी PTI के मुताबिक, खुद फेसबुक ने इसकी जानकारी दी है। रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी ने अधिकारिक बयान में बताया है कि अंखी दास ने पब्लिक सर्विस का हवाला देते हुए इस्तीफे का फैसला लिया है।


ये इस्तीफा ऐसे समय में हुआ है जब कुछ हफ्तों पहले अमेरिकी अखबार Wall Street Journal की एक रिपोर्ट सामने आने के बाद अंखी दास पर कई गंभीर आरोप लगे थे। अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि भारत में फेसबुक की टॉप पब्लिक पॉलिसी एग्जीक्यूटिव दास ने लोकसभा चुनाव से पहले अपने कर्मचारियों पर कई हेट स्पीच पोस्ट न हटाने का दबाव डाला था। रिपोर्ट के मुताबिक, यह भारतीय बाजार में राजनीतिक फायदा उठाने के लिए किया गया था।


कांग्रेस ने अमेरिकी अखबार की खबरों का हवाला देते हुए Facebook और BJP के बीच साठगांठ होने का आरोप लगाया था और दावा किया था कि भारत के लोकतंत्र एवं सामाजिक सद्भाव पर किया गया हमला बेनकाब हुआ है। Wall Street Journal ने एक रिपोर्ट में दावा किया है कि जब चुनावों में कांग्रेस की हार हुई थी तो भारत में फेसबुक के एक सीनियर अधिकारी ने आंतरिक कार्यालयी संवाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खूब तारीफ की थी और कहा था कि यह 30 साल की कड़ी मेहनत का परिणाम है।


कांग्रेस (Congress) फेसबुक से मामले की जांच करने की मांग कर चुकी है। कांग्रेस ने Facebook प्रकरण पर अमेरिकी अखबार में प्रकाशित लेख का हवाला देते हुए फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (Chief Executive Officer of Facebook) मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) को चिट्ठी लिखकर शिकायत की थी कि फेसबुक भारत में BJP का पक्ष ले रहा है और नफरत तथा फर्जी खबरें फैलाकर लोकतंत्र को नुकसान पहुंचा रहा है, इसलिए इस गंभीर मामले की हाई लेवल जांच (High Level Inquiry) की आवश्यक है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।