गरीबों के लिए कम किराए पर घर मुहैया कराएगी सरकार: वित्त मंत्री

सरकार ने मजदूरों के किराए की मुश्किल को ध्यान में रखते हुए खास स्कीम लॉन्च की है
अपडेटेड May 15, 2020 पर 08:52  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक राहत पैकेज के दूसरे चरण का आज ऐलान किया। आज इस पैकेज का खास फोकस प्रवासी मजदूरों पर था जो कोरोनावायरस संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर हैं।


लॉकडाउन होने के बाद हजारों प्रवासी मजदूर घर जाने के लिए सड़कों पर उतर आए थे। इसकी वजह थी किराया। उनका कहना था कि जब पैसे नहीं मिलेंगे तो वो कहां से किराया देंगे और क्या खाएंगे। सरकार ने मजदूरों की इस मुश्किल को ध्यान में रखते हुए खास स्कीम लॉन्च की है।


क्या है स्कीम?


इस स्कीम के तहत केंद्र सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना (PMAY) के तहत गरीबों के लिए कम किराए पर घर मुहैया कराएगी।
केंद्र सरकार सरकारी घरों को अफोर्डेबल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में बदलेगी। यह बदलाव PPP मॉडल के तहत किया जाएगा।


निर्मला सीतारमण ने बताया कि केंद्र सरकार उन इंडस्ट्रीज और इंस्टीट्यूशंस को खास इनसेंटिव्स देगी जो अपनी जमीन पर अफोर्डेबल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स बनाएगी।


सीतारमण ने यह भी बताया कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर अफोर्डेबल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स बनाने वालों को प्रोत्साहित करेंगे। सरकार इस स्कीम से जुड़ा ब्योरा अगले कुछ दिनों में जारी करेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।