गलवान घाटी: चीन को सबक सिखाने की पूरी तैयारी में है भारत

भारत चीन की बातचीत के बावजूद गलवान घाटी में हालात सुधरे नहीं हैं। दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है
अपडेटेड Jun 22, 2020 पर 11:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत चीन सीमा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। कई बार मैराथन बातचीत हो चुकी है, लेकिन सब बेनतीजा महसूस होती जा रही हैं। चीन की धोखेबाज चाल को देखते हुए भारत पूरी तरह से सतर्क है। चीन की बढ़ती हरकतों को देखते हुए आगे कब क्या हो जाए, कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।


इंडियन एक्सप्रेस में छपी के एक खबर के मुताबिक, स्थिति इतनी तनावपूर्ण है कि अगर चीन और भारत के सैनिक आमने-सामने आ जाएंगे तो हालात और ख़राब हो सकते हैं। 15-16 जून की रात के संघर्ष के बाद से ही दोनों तरफ की सेनाएं अपनी-अपनी स्थिति पर डटे हुए हैं।   


पूर्व आर्मी चीफ (Army Chief) वीपी मलिक (VP Malik) मलिक ने कहा कि अगर जल्द ही तनाव कम नहीं किया गया, ऐसी झड़पें होने की संभावनाएं और बढ़ जाएंगी। जब सैनिक आमने-सामने हों तो तनाव और ग़ुस्सा बहुत बढ़ा हुआ होता है और छोटी सी घटना भी बड़ी हो सकती है। 


पिछले दिनों गलवान घाटी में जो कुछ भी देखने को मिला है वो 45 सालों के बाद देखने को मिला है। संधि के चलते वहां पर तय किया गया था कि दोनों देशों के जवान हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेंगे। पिछले दिनों भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। चीनी सानिक भी मारे गए हैं। ऐसी झड़प के बाद अब शायद वहां संधि का पालन कर पाना मुश्किल हो सकता है। सेना पूरी तरह सतर्क है। इधर पीएम मोदी ने सेना को पूरी छूट दे रखी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।