Go Electric: सड़क परिवहन मंत्रालय की सभी गाड़ियां होंगी इलेक्ट्रिक, गडकरी ने सरकार को दिए ये अहम सुझाव

सड़क और परिवहन मंत्रालय की सभी गाड़ियां इलेक्ट्रिक होंगी, इसकी घोषणा रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी ने की है
अपडेटेड Feb 21, 2021 पर 13:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सड़क और परिवहन मंत्रालय की सभी गाड़ियां इलेक्ट्रिक होंगी, इसकी घोषणा खुद रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने की है। गडकरी ने शुक्रवार को इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल्स चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर के फायदे बताने और लोगों के बीच इसके लिए जागरुकता फैलाने के लिए गो इलेक्ट्रिक (Go Electric) अभियान की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने केंद्र सरकार से सभी मंत्रालयों और विभागों में सभी अधिकारियों के लिये इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को अनिवार्य करने की वकालत की। गडकरी ने सरकार को यह भी सुझाव दिया कि रसोई गैस पर सब्सिडी देने के बदले बिजली से चलने वाले खाना पकाने वाले उपकरणों की खरीद पर सब्सिडी मिलनी चाहिए।

गडकरी ने कहा कि वे अपने मंत्रालय की सभी गाड़ियों को इलेक्ट्रिक वाहन में बदलने जा रहे हैं। उन्होंने अन्य विभागों औऱ मंत्रालयों से भी इसका अनुसरण करने को कहा, ताकि तेल के आयात पर भारत की निर्भरता को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि सिर्फ दिल्ली में 10 हजार इलेक्ट्रिक बसों के इस्तेमाल से हर महीने 30 करोड़ रुपये की बचत होगी। साथ ही उन्होंने कहा कि बिजली से खाना पकाने की प्रणाली साफ-सुथरी है और इससे गैस के लिए आयात पर निर्भरता भी कम होगी। गडकरी ने सुझाव दिया कि सभी सरकारी अधिकारियों के लिये इलेक्ट्रिक वाहन अनिवार्य किये जाने चाहिए।

हाइड्रोजन एनर्जी मिशन के लिए बिडिंग 5 महीने के अंदर

नितिन गडकरी ने आम बजट में घोषित हाइड्रोजन एनर्जी मिशन के बारे में कहा कि हम हरित हाइड्रोजन के लिए बिडिंग प्रक्रिया चार से पांच महीने में शुरू कर देंगे। उन्होंने कहा कि इस मामले में उनकी चर्चा पेट्रोलियम, इस्पात और उर्वरक मंत्रालय के साथ हो चुकी है। उन्होंने इंपोर्टेड अमोनिया के कुल 10 फीसदी हिस्से की जगह ग्रीन अमोनिया को अपनाने पर जोर दिया। गडकरी ने कहा कि ईंधन के बढ़ते दाम को देखते हुए सड़क परिवहन मंत्रालय ने लिथियम ऑयन और हाइड्रोजन सेल जैसे वैकल्पिक ईंधन के क्षेत्र में संभावना टटोलने के लिये कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि एल्युमीनियम ऑयन और स्टील ऑयन बैटरी पर भी चर्चा की जा रही है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।