CKP Bank के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, अटके हुए पैसों के लिए रिफंड प्रक्रिया शुरू

सीकेपी बैंक में एफडी में निवेश करने वाले अकेले ग्राहक या संयुक्त ग्राहक अपने पैसे की प्राप्ति के लिए डिपॉजिट कॉर्पोरेशन के नियमों के प्रावधानों के अनुसार दावा कर सकते हैं।
अपडेटेड Jul 07, 2020 पर 07:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सीकेपी बैंक का लाइसेंस भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 30 अप्रैल 2020 को कैंसल किये जाने के कारण बैंक के ग्राहकों पर पहाड़ टूट पड़ा था क्योंकि उसके बाद से उनके पैसे बैंक में अटक गये थे। लेकिन अब उनको पैसे वापस मिलने के रास्ता साफ हो गया है। उनकी एफडी का रिफंड उन्हें डिपॉजिट बीमा कॉर्पोरेशन की तरफ से मिलने वाला है।


बैंक के ग्राहकों को कॉर्पोरेशन के नये संशोधित नियमों का फायदा मिलता दिख रहा है। इसके अनुसार एफडी की ब्याज सहित रकम या 5 लाख रुपये इसमें से जो कोई भी रकम कम होगी उतनी रकम ग्राहकों को दी जायेगी। ये जानकारी महाराष्ट्र नागरी सहकारी बैंक्स फेडरेशन ने दी है।


सीकेपी बैंक में एफडी में निवेश करने वाले अकेले ग्राहक या संयुक्त ग्राहक अपने पैसे की प्राप्ति के लिए डिपॉजिट कॉर्पोरेशन के नियमों के प्रावधानों के अनुसार दावा कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें केवाईसी प्रक्रिया पूर्ण करनी होगी। पैसे की प्राप्ति के लिए उन्हें पैन कार्ड, आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र जैसे प्रमाण और आवश्यक कागजातों से बैंक के निर्धारित फॉर्म में जमा कराएं।


निर्धारित फॉर्म सीकेपी बैंक ने अपने ग्राहकों को पोस्ट से भेजे हैं। महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक जिन्हें फॉर्म नहीं मिला है वे बैंक की नजदीकी शाखा में जाकर उसे प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा बैंक की वेबसाइट www.ckpbank.net पर भी फॉर्म उपलब्ध हैं। महाराष्ट्र नागरी सहकारी बैंक्स फेडरेशन ने एक प्रेस नोट के जरिये ये जानकारी उपलब्ध कराई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।