Virtual Visiting Cards: जानिए Google Search पर कैसे बनाएंगे विजिटिंग कार्ड्स

Virtual Visiting Cards के जरिए यूजर गूगल सर्च में अपनी वेबसाइट, सोशल मीडिया हैंडल और दूसरी जानकारी शेयर कर सकेंगे
अपडेटेड Aug 11, 2020 पर 20:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Google ने मंगलवार को एक नया People Cards फीचर लॉन्च किया है, जिसके तहत भारतीय यूजर्स पीपल कार्ड्स (People Cards) बना सकेंगे। ये Virtual Visiting Cards की तरह हैं, जिसके जरिए ऑनलाइन मौजूदगी को विकसित करना और दूसरों की खोज करना आसान हो जाएगा। इस फीचर को सबसे पहले भारत में लॉन्च किया गया है, जिसकी टेस्टिंग कई सालों से चल रही थी। Virtual Visiting Cards के जरिए यूजर गूगल सर्च में अपनी वेबसाइट, सोशल मीडिया हैंडल और दूसरी जानकारी शेयर कर सकेंगे।


कैसे करेगा काम?


Google के People Search फीचर से एक लोग अपना केवल एक ही virtual visiting cards बना सकेंगे। साथ ही इस virtual visiting cards को मोबाइल नंबर से वेरिफाई करना होगा। वही, कुछ मामलों में वेरिफिकेशन के लिए अन्य डिटेल भी मांगी जा सकती है। Google की तरफ से कहा गया कि People Cards क्रिएटर्स कंपनी की कंटेंट पॉलिसी से बंधे रहेंगे। साथ ही People Cards का ह्यूमन रिव्यू भी होगा, जिससे कोई फर्जी People cards न बन सके।


People Cards क्रिएटर्स के पास मोबाइल नंबर के साथ Google अकाउंट होना जरूरी होगा। People Cards का मकसद लोगो की ऑनलाइन उपस्थिति को प्रभावशाली बनाना है। ऐसे में कार्ड पर मौजदू लो-क्वॉलिटी इंफोर्मेशन रिपोर्ट करने के लिए फीडबैक बटन दिया जाएगा। यूजर के पास यह कंट्रोल होगा कि वो कौन सी जानकारी को People Cards की मदद से दुनिया को दिखाना चाहते हैं।


क्या होगा फायदा?


Google Search के प्रोडक्ट मैनेजर (Product Manager) Lauren Clark ने कहा कि इसकी मदद से यूजर्स Google Search पर virtual visiting card तैयार कर सकेंगे और अपनी मौजूदा वेबसाइट या सोशल प्रोफाइल और जानकारी को रख सकेंगे, जिसके बारे में यूजर जानना चाह सकते हैं। उन्होंने कहा कि नए फीचर का मकसद उन लाखों लोगों, प्रभावशाली लोगों, उद्यमियों (entrepreneurs), भावी कर्मचारियों (prospective employees), फ्रीलासंरों (freelancers) या किसी भी व्यक्ति की मदद करना है जो अपने बारे में लोगों को बताना चाहते हैं और दुनिया को उनको खोजने में मदद करना है।


उन्होंने कहा कि आज से शुरुआत करके भारतीय यूजर्स अपने मोबाइल फोन में अंग्रेजी भाषा में पीपल कार्ड्स को देख सकेंगे। उनके मुताबिक, जब एक यूजर किसी शख्स के नाम को सर्च करेगा और कार्ड उपलब्ध होगा, तो उसे नाम, पेशे और लोकेशन के साथ एक मोड्यूल दिखेगा और वह कार्ड पर टैप कर सकता है। अधिकारी ने कहा कि गूगल ने पीपल कार्ड्स पर जानकारी की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए कई प्रोटेक्शन और कंट्रोल रखे हैं।


अभद्र भाषा पर होगी कार्रवाई


उन्होंने कहा कि Safeguards  में अभद्र और खतरनाक कंटेंट के खिलाफ सुरक्षा करने की व्यवस्था शामिल है। इसके साथ एक Google Account के लिए एक People Card की इजाजत है। हर नए कार्ड के लिए यूजर्स को अकाउंट के लिए एक यूनिक मोबाइल नंबर के साथ प्रमाणित करना जरूरी होगा। उन्होंने बताया कि कुछ मामलों में वेरिफिकेशन के लिए अतिरिक्त जानकारी की जरूरत हो सकती है।


क्लार्क ने कहा कि पीपल कार्ड बनाने वाले यूजर्स के लिए कंटेंट पॉलिसी का पालन करना जरूरी होगा और इसके लिए कंपनी रिव्यू और ऑटोमेटेड टेक्निक का इस्तेमाल करेगी, जिसके जरिए पॉलिसी का उल्लंघन करने वाले कंटेंट को रोका जाएगा।


ऐसे करें यूज


इस फीचर को यूज करने के लिए यूजर्स को अपने मोबाइल फोन पर अपना नाम या फिर add me to search को सर्च करना होगा, जहां आपका नाम दिखेगा। इसके साथ ही Get Started ऑप्शन दिखेगा, जिस पर क्लिक करेक यूजर वर्चुअल विजिटिंग कार्ड के लिए जरूरी सूचनाएं जैसे मोबाइल नंबर, मेल आईडी, एजूकेशन, होम टाउन के साथ ही अपने पेशे की जानकारी दर्ज कर सकेंगे। इस तरह आपका वर्चुअल विजिटिंग कार्ड बन जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।