WhatsApp पर चल रहे फर्जी मैसेज से सरकार ने किया अलर्ट, Covid फंड के नाम पर चली रही है ठगी

WhatsApp पर सबसे अधिक मैसेज आते जाते हैं, ऐसे में बहुत से फर्जी मैसेज भी वायरल होते रहते हैं, जिसमें एक गलती से तगड़ा चूना लग सकता है
अपडेटेड Nov 26, 2020 पर 10:10  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस महामारी से पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था बुरे दौर से गुजर रही है। लाखों लोगों की नैकरियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। न जाने कितने लोग अपनी जॉब से हाथ धो बैठे हैं। ऐसे हालात में सबको पैसों की जरूरत है। इसमें अगर कहीं से कोई घोषणा हो जाती है कि सरकार लाखों रुपये आम नागरिकों को दे रही है। तो फटाफट ऐसे मैसेज भेजने लगते हैं। लेकिन अगर आपके पास ऐसे कोई मैसेज आते तो एक बार ठहर जाइये और उस मैसेज की पड़ताल कीजिए। कहीं ऐसा न हो कि मैसेज के लिंक पर आपने क्लिक कर दिया। जो आपकी बची पूंजी है वो भी पलक झपते ही साफ हो जाए।


दरअसल व्हाट्सअप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है। जिसमें कहा गया है कि  सरकार 18 साल से अधिक उम्र के सभी नागरिकों को कोरोना फंडिंग करने जा रही है और इस फंडिंग के तहत उन्हें 1,30,000 रुपये दिए जाएंगे। इस मैसेज में एक लिंक भी दिया गया है। जिसमें क्लिक करने पर पता चलेगा कि किसे पैसे मिलेंगे किसे नहीं। इस मैसेज को सरकार ने PIB के जरिए ट्वीट कर इस मैसेज फर्जी बताया है। इन फर्जी मैसेजों से लोगों को जागरूक रहने के लिए कहा गया है। केंद्र सरकार के आधिकारिक ट्विटर हैंडल PIB Fact Check ने व्हाट्सएप पर वायरल हो रहे इस मैसेज को फर्जी बताया है। इस मामले में PIB फैक्ट चेक ने ट्वीट किया कि भारत सरकार ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है और ऐसी कोई योजना भी नहीं चल रही है।


 


इसमें सरकार ने यूजर्स को अलर्ट जारी किया है। यूजर्स से कहा गया है कि ऐसे मैसेज गलती से भी कभी फारवर्ड न करें और न ही दिए गए लिंक पर कभी भी क्लिक करें। मैसेज भेजने वाले आपको फोन हैक कर सकते हैं। आपकी बैंक अकाउंट की डिटेल चोरी करके पैसे निकाल सकते हैं। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।