PUBG बैन के 50 दिन बाद भी भारत में चल रहा है यह गेम? जानिए कैसे खेल रहे हैं लोग

बैन किए जाने के 50 दिन बाद भी भारतीय लोग PUBG खेलने का आनंद ले रहे हैं
अपडेटेड Oct 21, 2020 पर 10:34  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत सरकार ने सितंबर में 118 चाइनीज ऐप पर बैन लगाया था। इस लिस्ट में PUBG का भी नाम था। सरकार ने कहा था कि बैन किए गए मोबाइल ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता, सुरक्षा और शांति-व्यवस्था के लिए खतरा हैं। हालांकि, बैन किए जाने के 50 दिन बाद भी भारतीय लोग PUBG खेलने का आनंद ले रहे हैं। हालांकि ऐसा कहा जा रहा था कि ये बस आखिरी सांसे हैं, जो कभी भी बंद हो जाएंगी।


भारत सरकार ने PUBG Mobile और PUBG Mobile Lite पर बैन लगा दिया था, जिसके बाद ये इंडिया में गूगल प्ले स्टोर और ऐपल ऐप स्टोर से गायब हो गए। जिन फोन में गेम पड़े थे, वो चल रहे थे। फिलहाल, भारत में PUBG का क्रेज कम होने का नाम नहीं ले रहा है। भारत में PUBG Mobile को लोग उसके आधिकारिक वेबसाइट और यूट्यूब पर ऑनलाइन खेल रहे हैं। PUBG Mobile के आधिकारिक वेबसाइट को Jio नेटवर्क (4G या वाई-फाई) पर एक्सेस किया जा सकता है, इसके अलावा Airtel यूजर्स भी इसे अभी भी खोल सकते हैं, गेम डाउनलोड कर सकते हैं और खेल सकते हैं।


भारत सरकार ने PUBG Mobile को प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटवा दिया, लेकिन न गेम के सर्वर बंद करवाए, न ही देश के ISP (इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर, जैसे- वोडाफोन, एयरटेल, Jio) को आदेश दिया कि वो गेम सर्वर की IP (इंटरनेट प्रोटोकॉल) को ब्लॉक करें। इसलिए बैन के बाद भी गेम आराम से चले ही जा रहा है। इसके लिए किसी को न कोई जुगाड़ करना पड़ा। यहां तक कि YouTube पर, लोकप्रिय भारतीय गेम स्ट्रीमर जैसे GTA V, Brawl Stars और PUBG PC के जरिए इस खेल का आनंद ले रहे हैं।


यूजर्स एंड्रॉयड फोन पर ऐप्लीकेशन गूगल प्ले स्टोर के अलावा किसी भी वेबसाइट या फिर थर्ड-पार्टी ऐप स्टोर से डाउनलोड कर गेम को खेल रहे हैं। इसलिए अपडेट आने के बाद लोगों ने पबजी की वेबसाइट से ही apk फाइल निकाल ली। न VPN की जरूरत पड़ी, न ही इससे फर्क पड़ा कि फोन किस कंपनी का है। वनप्लस, शाओमी, सैमसंग, रियलमी, मोटोरोला, आसुस, ऑप्पो, वीवो, इनफिनिक्स सभी पर आसानी से चल रहा है। इससे एक बात तो साफ हो गया है कि बैन के बावजूद भारत में PUBG का क्रेज कम होने का नाम नहीं ले रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।