ऐतिहासिक पल: Indian Navy के युद्धपोत पर पहली बार शामिल हुईं ये 2 महिला अधिकारी

दोनों महिला अधिकारियों को नौसेना के युद्धपोत पर क्रू के रूप में तैनात किया जाएगा
अपडेटेड Sep 22, 2020 पर 10:35  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय नौसेना ( Indian Navy) विमानन के इतिहास में पहली बार दो महिला अधिकारियों को Helicopter Stream में Observers (Airborne tacticians) के पद में शामिल होने के लिए चुना गया है। दोनों महिला अधिकारियों को नौसेना के युद्धपोत पर क्रू के रूप में तैनात किया जाएगा। ये दोनों पहली महिला अधिकारी होंगी, जोकि युद्धपोतों से संचालित होने वाली महिला हवाई लड़ाकू विमानों में तैनात होंगी। इससे पहले महिलाओं के प्रवेश को तय विंग विमान तक ही सीमित रखा गया था। इन दोनों महिला अधिकारियों का नाम सब लेफ्टिनेंट (Sub Lieutenant) कुमुदिनी त्यागी (Kumudini Tyagi) और सब लेफ्टिनेंट (Sub Lieutenant) रीति सिंह (Riti Singh) है।


ये Indian Navy के 17 अधिकारियों के एक समूह का हिस्सा हैं, जिन्हें INS Garuda Kochi में 21 सितंबर को आयोजित एक समारोह में Observers के रूप में स्नातक होने पर Wings से सम्मानित किया गया। यह कदम लैंगिक समानता की ओर एक बड़ा कद माना जा रहा है, क्योंकि ये दोनों पहली महिला अधिकारी होंगी, जो युद्धपोतों से संचालित होने वाली महिला हवाई लड़ाकू विमानों में तैनात होंगी। हालांकि, नौसेना कई महिला अधिकारियों को भर्ती करती रही है, लेकिन कई कारणों की वजह से अब तक महिला अधिकारियों को युद्धपोतों पर लंबे समय के लिए तैनात नहीं किया गया है।


इस ग्रुप में चार महिला अधिकारी और Indian Coast Guard के तीन अधिकारी (नियमित बैच के 13 अधिकारी और 04 महिलाएं शामिल हैं) शॉर्ट सर्विस कमीशन बैच के अधिकारी) जिन्हें INS Garuda Kochi में 21 सितंबर को आयोजित एक समारोह में Observers के रूप में स्नातक होने पर Wings से सम्मानित किया गया था। समारोह की अध्यक्षता रियर एडमिरल एंटनी जॉर्ज एनएम (Rear Admiral Antony George) और वीएसएम मुख्य कर्मचारी अधिकारी (प्रशिक्षण) ने की।


NDTV के मुताबिक, दोनों युवा महिला अधिकारी Navy के Multi Role Helicopters में लगे सेंसरों को ऑपरेट करने की ट्रेनिंग ले रही हैं। माना जा रहा है कि ये दोनों अधिकारी नौसेना के नए MH-60 R Helicopters में उड़ान भरेंगी। MH-60 R Helicopters को अपनी श्रेणी में दुनिया में सबसे अत्याधुनिक मल्टी-रोल हेलीकॉप्टर माना जाता है। इसे दुश्मन के पोतों और पनडुब्बियों को डिटेक्ट करने और उन्हें उलझाने के लिए डिजाइन किया गया है। वर्ष 2018 में तत्कालीन रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने  Lockheed-Martin द्वारा निर्मित हेलीकॉप्टरों की खरीद को मंजूरी दी थी, जिसका मूल्य करीब 2.6 अरब अमेरिकी डॉलर था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।