कोरोना का इलाज: सरकार ने इमरजेंसी में रेमदेसिवीर के इस्तेमाल की इजाजत दी

रेमदेसिवीर कोरोनावायरस की पहली दवा है जिसका फायदा क्लीनिकल ट्रायल में नजर आया है
अपडेटेड Jun 03, 2020 पर 08:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण का आंकड़ा 2 लाख पहुंच गया है। Unlock 1.0 में सरकार ने आर्थिक गतविधियों और बाजार खोलने की इजाजत दी है जिससे आगे आने वाले दिनों में संक्रमण और बढ़ सकता है। ऐसे में भारत ने गिलेड साइंस की दवा रेमदेसिवीर (remdesivir) के इस्तेमाल की इजाजत दे दी है। हेल्थ मिनिस्ट्री ने बताया कि सरकार ने कोरोनावायरस के मरीजों के इलाज के लिए इमरजेंसी में remdesivir के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।


रेमदेसिवीर कोरोनावायरस की पहली दवा है जिसका फायदा क्लीनिकल ट्रायल में नजर आया है। अमेरिकी ड्रग रेगुलेटर USFDA ने पिछले महीने कोरोना से संक्रमित गंभीर मरीजों पर इसके इलाज की अनुमति दे दी थी। रेमदेसिवीर को जापान के हेल्थ रेगुलेटर्स से भी मंजूरी मिल गई है।


भारत के ड्रग रेगुलेटर ने कहा, "रेमदेसिवीर को 1 जून को इमरजेंसी में इस्तेमाल करने की मंजूरी दे दी गई है। इसके 5 डोज तक इस्तेमाल करने की शर्त है।"


लाइव मिंट के मुताबिक, गिलेड साइंसेज ने सोमवार को कहा था कि रेमदेसिवीर की दवा के 5 दिनों के कोर्स से कोरोनावायरस के मरीजों को फायदा मिला है। यूरोप और साउथ कोरिया की सरकारें भी इस दवा को अनुमति देने पर विचार कर रही हैं। साउथ कोरिया की हेल्थ मिनिस्ट्री ने पिछले शुक्रवार को कहा था कि वह रेमदेसिवीर दवा इंपोर्ट करेगी। हालांकि अभी यूरोप और साउथ कोरिया के मार्केट में इस दवा की बिक्री के लिए ड्रग रेगुलेटर की मंजूरी नहीं मिली है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।