India China border Border News: आर्मी चीफ ने लद्दाख में जमीनी हालात का जायजा लिया

विदेश मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी (पूर्व एशिया) नवीन श्रीवास्तव और चाइनीज मिलिट्री के डायरेक्टर जनरल वु ज़ियांगहाओ (Wu Jianghao) के बीच बातचीत चल रही है
अपडेटेड Jun 25, 2020 पर 07:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत-चीन सीमा पर दोनों देशों के बीच तनाव अभी बरकरार है। हालात को सामान्य बनाने के लिए दोनों देशों के बीच कई बार मिलिट्री लेवल की बातचीत हो चुकी है। भारत बार-बार गलवान वैली पर चीन की संप्रभुता को खारिज कर रहा है। PTI के मुताबिक, विदेश मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी (पूर्व एशिया) नवीन श्रीवास्तव और चाइनीज मिलिट्री के डायरेक्टर जनरल वु ज़ियांगहाओ (Wu Jianghao) के बीच बातचीत चल रही है। पूर्वी लद्दाख में LAC पर दोनों देशों के मतभेद दूर करने पर सहमति होने के दो दिनों के बाद यह बैठक हो रही है।


चीन के डिफेंस मिनिस्ट्री के प्रवक्ता कर्नल वु कायन ने कहा कि दोनों देशों के डिफेंस मिनिस्टर फोन पर बात कर रहे हैं। चीन के विदेश मंत्री ने कहा कि चीन और भारत अहम पड़ोसी हैं और सीमा पर शांति बनाए रखना दोनों पक्षों के हितों में है। हालांकि एक अलग बयान में चीन के विदेश मंत्री और डिफेंस मिनिस्टर लगातार यह दोहरा रहे हैं कि 15 जून को हुई झड़प के लिए भारत जिम्मेदार है।




मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘इस पर जोर दिया गया कि दोनों पक्ष वास्तविक नियंत्रण रेखा का पूरा-पूरा सम्मान करें।’’ इसमें कहा गया कि दोनों प्रतिनिधिमंडल पहली बनी सहमति को शीघ्र लागू करने पर सहमत हुए ताकि सीमावर्ती इलाकों में शांति का माहौल सुनिश्चित किया जा सके। विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव (पूर्वी एशिया) नवीन श्रीवास्तव और चीनी विदेश मंत्रालय में महानिदेशक वू जियांगहो के बीच यह वार्ता हुई।


मंत्रालय ने कहा कि दोनों पक्षों ने राजनयिक और सैन्य दोनों स्तरों पर संचार बनाए रखने पर सहमति व्यक्त की। दोनों पक्षों ने मौजूदा स्थिति को शांति से हल करने पर भी सहमति जताई। पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले बिंदुओं से ‘‘हटने’’ पर चीनी और भारतीय सेनाओं के बीच बनी ‘‘आपसी सहमति’’ के दो दिन बाद यह वार्ता हुई।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।