India china border tension: भारत के 20 जवानों को मारने में चीन के कर्नल का हाथ, चीन के 45 सैनिक मरे

भारत-चीन सीमा पर बिगड़ते हालात को देखते हुए डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह और आर्मी चीफ ने मुलाकात की है
अपडेटेड Jun 18, 2020 पर 07:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत-चीन सीमा पर पिछले 45 साल की सबसे हिंसक झड़प हुई जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए हैं। सोमवार आधी रात को जब चीन और भारत की सेना आपस में भिड़ी तो सीमा विवाद का मसला और गंभीर हो गया। अमेरिकी इंटेलिजेंस के मुताबिक, इस मुठभेड़ में चीन के 35 जवान मारे गए हैं। अमेरिकी न्यूज के सूत्रों के मुताबिक, इसमें एक सीनियर चाइनीज अफसर भी शामिल है। भारतीय मिलिट्री ने मंगलवार सुबह बताया था कि हिंसक झड़प में  एक कर्नल सहित सिर्फ तीन जवान मारे गए हैं। हालांकि रात तक आर्मी ने बताया कि ज़ीरो से भी कम तापमान में 17 जवान गंभीर रूप से घायल थे जिनकी मौत हो गई है।


News 18 ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि इस हिंसक झड़प में चीन में भी बड़ी संख्या में सैनिक मारे गए हैं। सूत्रों ने बताया, "वैसे तो यह एकदम सटीक बताना मुश्किल है कि चीन के कितने जवान मारे गए और कितने घायल हैं। लेकिन यह आंकड़ा 40 से ज्यादा हो सकता है। घटनास्थल से  कितने चाइनीज सैनिकों को हटाया गया है और एंबुलेंस व्हीकल की संख्या को देखकर यह अनुमान लगाया गया है। इस इलाके में चाइनीज हेलिकॉप्टर का मूवमेंट भी बढ़ गया है।" न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, इस मारपीट में चाइनीज यूनिट के एक कमांडिंग ऑफिसर की भी मौत हुई है।


भारत-चीन सीमा पर बिगड़ते हालात को देखते हुए डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह और आर्मी चीफ ने मुलाकात की है। साथ ही एयर फोर्स और नेवी को अलर्ट कर दिया गया है। सिंह ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से भी बातचीत की है। ब्रिटिश हाई कमीशन के एक प्रवक्ता ने कहा है, "जो रिपोर्ट्स आ रही हैं वो चिंताजनक है। लेकिन हम भारत और चीन को आपसी बातचीत के जरिए मसला सुलझाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हिंसा किसी के भी हक में नहीं है।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।