भारत के हाथ से निकला ईरान का Farzad-B गैस फील्ड, ONGC विदेश लिमिटेड ने की थी इसकी खोज

ईरान से भारत को तगड़ा झटका लगा है, ईरान के पर्सियन गल्फ में मौजूद फरजाद-बी गैस फील्ड भारत के हाथ से निकल गया है
अपडेटेड May 18, 2021 पर 09:13  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ईरान से भारत को तगड़ा झटका लगा है। ईरान के पर्सियन गल्फ में मौजूद फरजाद-बी गैस फील्ड (Farzad-B gas field) भारत के हाथ से निकल गया है। ईरान ने इस विशाल गैस फील्ड को डेवलप करने का कॉन्ट्रैक्ट देश की एक लोकल कंपनी पेट्रोपार्स ग्रुप (Petropars Group) को दे दिया है। इस गैस फील्ड की खोज भारत के ONGC Videsh Ltd ने की थी।

ईरान की सरकारी न्यूज सर्विस शना (Shana) की रिपोर्ट के मुताबिक, नेशनल इरानियन ऑयल कंपनी (NIOC) ने भारत को झटका देते हुए इस गैस फील्ड को डेवलप करने का ठेका पेट्रोपार्स ग्रुप को दे दिया है। NIOC और पेट्रोपार्स ग्रुप के बीच यह करार तेहरान में इरान के पेट्रोलियम मंत्री की मौजूदगी में 17 मई को हुआ।

आपको बता दें कि Farzad-B gas field में 23 ट्रिलियन क्यूबिक फीट गैस रिजर्व है, जिसमें से 60% तक गैस निकाला जा सकता है। इसके अलावा इस गैस फील्ड में गैस कंडेंनसेट्स हैं जिसमें 5000 बैरल प्रति बिलियन क्यूबिक फीट गैस मौजूद है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस गैस फील्ड से अगले 5 साल तक हर रोज 28 मिलियन क्यूबिक मीटर गैस निकाला जा सकता है।

Farzad-B gas field की खोज ONGC Videsh Ltd ने पर्शियन गल्फ यानी फारसी ऑफसोर एक्सप्लोरेशन ब्लॉक में वर्ष 2008 में की थी। ONGC Videsh Ltd ने ईरान को इस गास फील्ड को डेवलप करने के लिए 11 बिलियन डॉलर निवेश करने की ऑफर दिया था।

लेकिन ईरान की नेशनल इरानियन ऑयल कंपनी (NIOC) भारत के इस प्रपोजल पर वर्षों तक बैठी रही और अब यह भारत के हाथ से निकल गया है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।