भारत 8वीं बार चुना गया UNSC का अस्थाई सदस्य, 192 में से मिले 184 वोट

भारत पहली बार 1950 में गैर-स्थायी सदस्य के रूप में चुना गया था और आज आठवीं बार चुना गया
अपडेटेड Jun 18, 2020 पर 14:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत 8 साल में 8वीं बार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) का अस्थाई सदस्य (Non Permanent)  चुन लिया गया है। बुधवार को हुई वोटिंग में महासभा के 193 देशों ने हिस्सा लिया, जिसमें 184 देशों ने भारत का समर्थन किया। अमेरिका ने UN में भारत की अस्थाई सदस्यता का स्वागत किया। कहा- भारत और अमेरिका मिलकर दुनिया में अमन बहाली और सुरक्षा जैसे अहम मुद्दों पर काम करेंगे।


भारत को अस्थायी सदस्य चुने जाने के लिए सिर्फ 128 वोटों की जरूरत थी। हालांकि भारत को पहले से ही उम्मीद थी कि बुधवार को सुरक्षा परिषद चुनाव में उसे आसानी से जीत मिल जाएगी। भारत पहली बार 1950 अस्थायी सदस्य के तौर पर चुना गया था और आज आठवीं बार चुना गया। भारत 1950-51, 1967-68, 1972-73, 1977-78, 1984-85, 1991-92 और 2011-12 में भारत यह जिम्मेदारी निभा चुका है।


संयुक्त राष्ट्र चार्टर के मुताबिक, भारत दो साल के लिए अस्थाई सदस्य चुना गया है। भारत के साथ आयरलैंड, मैक्सिको और नॉर्वे भी अस्थाई सदस्य चुने गए हैं। भारत का कार्यकाल 1 जनवरी 2021 से शुरू होगा।   


UN में भारत को अस्थाई सदस्यता मिलने से पाकिस्तान परेशान है। पाकिस्तान का कहना है कि UNSC में भारत की अस्थाई सदस्यता हमारे लिए चिंता का विषय है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि भारत के अस्थाई सदस्य बनने से कोई फर्क नहीं पड़ता, लेकिन हमारे लिए यह चिंता का विषय है।


UNSC में कुल 15 देश हैं। इनमें पांच स्थायी सदस्य हैं। ये हैं- अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन और चीन। 10 देशों को अस्थाई सदस्यता दी गई है। हर साल पांच अस्थायी सदस्य चुने जाते हैं। अस्थाई सदस्यों का कार्यकाल दो साल होता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।