इंडियन रेलवे ने पहली बार पर लॉन्च किया बायोमीट्रिक टोकन मशीन, जानिए फायदे

बायोमेट्रिक टोकन मशीन से जनरल कोच में यात्रियों को लंबी कतार से छुटकारा मिलेगा
अपडेटेड Sep 20, 2021 पर 18:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इंडियन रेलवे (Indian Railways) ने बायोमीट्रिक टोकन मशीन (Biometric Token Machine) सर्विस लॉन्च कर दी है। यात्रियों की भीड़ को कम करने के लिए दक्षिण मध्य रेलवे (South Central Railway) जोन ने हाल ही में सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन (Secunderabad railway station) पर पहली बार बायोमीट्रिक टोकन मशीन सर्विस शुरू कर दी है।


रेलवे का मकसद है कि बायोमीट्रिक टोकन मशीन के जरिए जनरल कोच (बिना आरक्षण) में यात्रा करने वाले यात्रियों को लंबी कतार से छुटाकार मिलेगा। कभी-कभी यात्रियों के बीच होने वाले झगड़ों से मुक्ति मिलेगी। इससे जनरल कोच (unreserved coaches) में यात्रियों के चढ़ने की प्रक्रिया में आसानी आएगी।  


इस मशीन के जरिए यात्रियों की पूरी जानकारी रखी जाती है। जैसे टिकट का PNR Number, ट्रेन नंबर और डेस्टीनेशन समेत पूरी डिटेल दर्ज की जाती है। इसके बाद बायोमेट्रिक जानकारी जैसे फोटोग्राफ और फिंगर प्रिंट को कैप्चर किया जाता है।


Indian Railways: अक्टूबर में जारी होगा नया टाइम टेबल! ट्रेन किराए में भी हो सकता है बदलाव, जानें पूरी डिटेल


एक बार यह पूरी जानकारी दर्ज होने के बाद मशीन के जरिए एक सीरियल नंबर के साथ टोकन नंबर जेनरेट होता है। फिर यात्रियों को उस नंबर के मुताबिक अपने डिब्बे (coaches) में चढ़ना होता है। इसके अलावा इस सर्विस के जरिए अपराध (crimes) रोकने में भी मदद मिलेगी।


साउथ सेंट्रल रेलवे (South Central Railways) द्वारा जारी किए गए बयान के मुताबिक, बायोमीट्रिक मशीन के जरिए जनरल कोच में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए बड़ी राहत होगी। अब उन्हें कई घंटों तक कतार में इंतजार करने की जरूरत नहीं रह जाएगी। एक बार टोकन जारी होने के बाद यात्री ट्रेन छूटने के 15 मिनट पहले कोच तक पहुंच सकते हैं और आसानी से अपने कोच में चढ़ सकते हैं। 


इसके अलावा रेलवे ने यह भी दावा किया है कि सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर बायोमीट्रिक टोकन मशीन सिस्टम से बोर्डिंग के समय यात्रियों की कतार को बनाए रखने के लिए रेलवे सुरक्षा बल (Railway Protection Force -RPF) के जवानों को कम करने में मदद मिलेगी। यानी सुरक्षा बलों की कम जरूरत पड़ेगी।


IRCTC Char Dham Yatra: चारधाम यात्रा के लिए IRCTC ने शुरू की स्पेशनल ट्रेन, जानिए पूरी डिटेल


बता दें कि पहली बायोमीट्रिक मशीन 14 सितंबर 2021 को लॉन्च की गई थी। दक्षिण मध्य रेलवे ने यह भी ऐलान किया है कि सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर जल्द ही दूसरी बायोमीट्रिक टोकन मशीन भी लगाई जाएगी। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।