Indian Railways: रेल कर्मचारियों के ट्रैवल और ओवर टाइम अलाउंस में 50 फीसदी कटौती की तैयारी - Report

रेल मंत्रालय ने इस पर पहल करनी शुरू कर दी है और जल्द ही इस अंतिम निर्णय लिया जा सकता है
अपडेटेड Nov 25, 2020 पर 11:05  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Indian Railways:  कोरोना वायरस से पूरी दुनिया की हालत खस्ता हो गई है। आर्थिक स्थिति पटरी से उतर गई है। देश में कोरोना वायरस लॉकडाउन के रेल का पहिया जाम रहा। हालांकि धीरे-धीरे इसने रफ्तार पकड़नी शुरू कर दी है। लेकिन कोरोना वायरस से रेलवे को बड़ी चपत लगी है। ऐसे में रेलवे अपने घाटे की भरपाई करने के लिए रेल मंत्रालय (railway ministry) अपने कर्मचारियों को दिए जाने वाले भत्तों (allowances) को कम करने पर विचार कर रहा है। DNA ने एक रिपोर्ट के हवाले से लिखा है कि इंडियन रेलवे कर्मचारियों के ट्रैवेल अलाउंस (travel allowances) और ओवर टाइम (overtime allowances) में 50 फीसदी कटौती करने जा रहा है। 


ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, रेल मंत्रालय ने इस पर पहल करनी शुरू कर दी है और कर्मचारियों के ओवरटाइम और ट्रैवेल अलाउंस में कमी पर करने पर जल्द ही अंतिम निर्णय ले सकता है। ऐसा पहली बार नहीं है कि इस तरह की खबरें सामने आईं हैं। इससे पहले अगस्त में, ऐसी अटकलें लगाई गईं थी कि इंडियन रेलवे साल 2020-21 के लिए कर्मचारियों के वेतन और पेंशन रोकने पर विचार कर रहा है। हालांकि तब सरकार ने इन अटकलों को खारिज कर दिया था। सरकार ने खारिज करते हुए सोशल साइट पर लिखा था सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं था और रिपोर्ट झूठी और पूरी तरह से गलत थी। केंद्र सरकार ने कहा था कि सभी वेतन और पेंशन हमेशा की तरह जारी रहेंगे।


इससे पहले यह कहा गया था कि रेलवे पर लॉकडाउन की भारी मार पड़ी है और उसके पास वेतन देने के लिए पैसे नहीं हैं। इसलिए रेलवे कर्मचारियों के वेतन में कटौती करने पर विचार कर रहा था। रेल मंत्रालय ने पहले फाइनेंस मिनिस्ट्री (finance ministry) से 2020-21 में 53,000 करोड़ रुपये के पेंशन खर्च को पूरा करने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की थी। रेलवे में 13 लाख कर्मचारी और करीब 15 लाख पेंशनर्स हैं।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।