2020 में भारत की GDP ग्रोथ -3.1% रहने का अनुमान, जियोपॉलिटिकल टेंशन से अनिश्चितता: मूडीज

मूडीज के मुताबिक, 2020 की दूसरी तिमाही सेकेंड वर्ल्ड वॉर के बाद ग्लोबल इकोनॉमी के लिए यह सबसे बुरा दौर था
अपडेटेड Jun 23, 2020 पर 12:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मूडीज (Moodys) के ग्लोबल मैक्रो आउटलुक रिपोर्ट के मुताबिक, 2020 में भारत की GDP की ग्रोथ -3.1 फीसदी रह सकती है। मूडीज ने कहा कि ग्लोबल इकोनॉमी में सुधार के संकेत नजर आने लगे हैं लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था की रिकवरी में अभी वक्त लगेगा। रिपोर्ट के मुताबिक, लॉकडाउन का असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर जरूरत से ज्यादा होगा। मूडीज के मुताबिक, "2020 की दूसरी तिमाही में ग्रोथ रिकॉर्ड लो पर जाएगा क्योंकि सेकेंड वर्ल्ड वॉर के बाद ग्लोबल इकोनॉमी के लिए यह सबसे बुरा दौर था।"


इस दौरान अच्छी बात यह है कि 2021 में GDP की ग्रोथ 6.9 फीसदी रही है। इस साल की दूसरी छमाही से धीरे-धीरे रिकवरी होगी। बड़े पैमाने पर देखें तो 2020 में G20 देशों की आर्थिक ग्रोथ 2020 में -4.6 फीसदी रही। लेकिन 2021 में इन देशों की ग्रोथ 5.2 फीसदी रह सकती है।


जियोपॉलिटिकल टेंशन का असर

मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मौजूदा जियो पॉलिटिकल टेंशन की वजह से ग्रोथ प्रभावित हो सकती है। साउथ चाइन सी से लगे देशों के साथ चीन के झड़प और इंडिया के साथ चल रहे तनाव का असर ग्रोथ पर पड़ेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।