Instant Loan App के चक्कर में फंसना पड़ेगा भारी, एक क्लिक से हो सकता है लाखों का नुकसान

देश में अभी तक इन Instant Loan App के जाल में फंसकर कई लोग आत्महत्या कर चुके हैं. पुलिस सभी मामलों की जांच कर रही है
अपडेटेड Jan 16, 2021 पर 09:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना महामारी  (Covid-19) की वजह से लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ज्यादातर सभी देशों में कोरोना वायरस को देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया था जिससे भारत समेत पूरी दुनिया में लाखों लोगों की नौकरी चली गई थी। अब धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही है लेकिन लोगों को आर्थिक दिक्कतों का सामना अभी भी करना पड़ रहा है। लोग पैसा कमाने के नए-नए तरीके खोज रहे हैं। अब इंटरनेट पर ऐसे कई Loan App आ गए हैं जिनसे आप लोन ले सकते हैं। लोग रुपये लेने के लिए इन Loan App का इस्तेमाल कर रहे हैं। 


हाल में देश में साइबर क्राइम (Cyber Crime) काफी ज्यादा बढ़ा है। लोग साइबर क्राइम का शिकार हो रहे हैं। अब एक रिपोर्ट में देश में बढ़ रहे साइबर क्राइम के पीछे चीन का हाथ  होना सामने आय़ा है।  रिपोर्ट में बताया गया है कि देश में बढ़ रहे साइबर क्राइम के पीछे चीनी App का हाथ है। देश में जो भी Instant Loan App हैं वह ज्यादातर App चीन के हैं। उन App को चीन से ऑपरेट किया जाता है। Instant Loan App दावा करते हैं कि यूजर को कुछ ही मिनटों में एक क्लिक करने पर लोन मिल जाएगा।  


Instant Loan App लोगों की मजबूरी का फायदा उठाते हैं। जब कोई ग्राहक इनसे लोन लेता है तो उस समय यह App इंटरेस्ट रेट के बारे में जानकारी नहीं देते हैं। लेकिन जब एक बार आदमी Instant Loan App के जाल में फंस जाता है तब ये App उससे 30 प्रतिशत तक ब्याज वसूलते हैं। यह App प्रोसेसिंग चार्ज, GST को मिलाकर यह  App हर हफ्ते 30 प्रतिशत तक ब्याज लेते हैं।
अब तक पुलिस ने अपनी जांच में करीब 1000 करोड़ रुपये का डिस्बर्समेंट पाया है। हैदराबाद पुलिस ने पिछले दिनों खुलासा किया था की उसने करीब 21 हजार करोड़ का ट्रांजेक्शन चार अलग-अलग चीनी कंपनियों में अपनी जांच में पाया है। पुलिस ने बताया था कि कुछ ट्रांजेक्शन बिटकॉइन में भी हुए थे। पुलिस कई मामलों में अभी तक 110 करोड़ रुपये के करीब सीज किए हैं।


Instant Loan App के जाल में फंसकर अभी तक देश में कई लोगों ने आत्महत्या की है। Instant Loan App के चक्कर में आत्महत्या करने वाले केस देश के हर राज्य से सामने आ रहे हैं। पुलिस इन सभी मामलों की गहराई से जांच कर रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।