IRCTC: कोरोना के चलते लखनऊ-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस पर फिर लगा ब्रेक, अप्रैल तक सर्विस रद्द

देश भर में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद बढ़ने पर IRCTC ने लखनऊ-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस की सर्विस रद्द कर दी गई है
अपडेटेड Apr 08, 2021 पर 11:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को देखते हुए Indian Railway Catering and Tourism Corporation (IRCTC) ने शुक्रवार यानी 9 अप्रैल से लखनऊ-नई दिल्ली-लखनऊ ( Lucknow-New Delhi-Lucknow) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को महीने आखिरी तक सर्विस रद्द कर दी गई है।


IRCTC ने अपने बयान में कहा है कि हाल ही कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने से लखनऊ-नई दिल्ली तेजस एक्सप्रेस (Lucknow- New Delhi Tejas Express) जो कि ट्रेन नंबर 82501-O2 को 9 अप्रैल से 30 अप्रैल तक अस्थाई (temporarily) रूप से सर्विस बंद की जा रही है। स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है और ट्रेन को फिर से शुरू किया जाएगा। ये ट्रेन हफ्ते में 4 दिन शुक्रवार, शनिवार, रविवार और सोमवार को चलाई जा रही थी।


बता दें कि IRCTC ने अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस (Ahmedabad-Mumbai Tejas Express) को पहले ही 2 अप्रैल से बंद कर दिया है। वेस्टर्न रेलवे के मुंबई डिवीजन के डिविजनल रेलवे मैनेजर ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी। इस ट्वीट में कहा गया कि ट्रेन नंबर 82902/82901 अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल अहमदाबाद तेजस एक्सप्रेस (Ahmedabad-Mumbai Central-Ahmedabad Tejas express) को 2 अप्रैल 2021 से एक महीने के लिए बंद किया जा रहा है।


IRCTC के एक अधिकारी ने कहा कि दोनों कनेक्टिंग स्टेट्स में नाइट कर्फ्यू भी लागू किया गया है। ऐसे में यात्रियों को परेशानी हो सकती है। रेलवे ने इस साल 14 फरवरी से हफ्ते में 4 दिन नियमित तौर पर मुंबई सेंट्रल-अहमदाबाद तेजस एक्सप्रेस की सर्विस को फिर से शुरू किया था।


अक्टूबर में अपनी सर्विस को फिर से शुरू करने के बाद, कोरोना वायरस महामारी के खराब हालात के चलते IRCTC ने पिछले साल 24 नवंबर से इस ट्रेन की सभी यात्राएं रद्द कर दी थीं। बता दें कि तेजस एक्सप्रेस देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है।  देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या कम होने के बाद IRCTC ने इस साल 14 फरवरी को दोनों तेजस एक्सप्रेस ट्रेनों की सर्विस शुरू की है। 


क्या है तेजस की खूबियां


तेजस एक्सप्रेस की खासियतों की बात करें तो शताब्दी से थोड़ी ज्यादा सुविधा इसमें दी गई है। इसमें एक्ज़ीक्यूटिव और चेयर क्लास श्रेणी की बोगियां हैं। एक्ज़ीक्यूटिव क्लास की एक बोगी में 52 और चेयर कार की बोगी में 78 सीटें लगाई गई हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।