जेसिका लाल मर्डर केस: अच्छे बर्ताव के कारण वक्त से पहले रिहा हुआ मनु शर्मा

14 साल की सजा काटने के बाद मनु शर्मा को 1 जून से तिहाड़ जेल से रिहा किया गया है
अपडेटेड Jun 03, 2020 पर 11:52  |  स्रोत : Moneycontrol.com

साल 1999 के जेसिका लाल (Jesika Lall) हत्याकांड के दोषी मनु शर्मा को अच्छे बर्ताव के कारण वक्त से पहले जेल से रिहा कर दिया गया है। वह उम्र कैद की सजा काट रहा था। दिल्ली के उपराज्यपाल ने मनु शर्मा की रिहाई के आदेश दिए हैं। मनु शर्मा उर्फ सिद्धार्थ वशिष्ठ हरियाणा के कांग्रेस नेता विनोद शर्मा का बेटा है। 2006 में मनु शर्मा को जेसिका लाल हत्यकांड में सजा सुनाई गई थी। 14 साल की सजा काटने के बाद मनु शर्मा को 1 जून से तिहाड़ जेल से रिहा किया गया है।


कोरोनावायरस संक्रमण और जेल में भीड़ ज्यादा होने के कारण शर्मा पेरोल पर बाहर था।
सूत्रों ने बताया कि दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन की अध्यक्षता में 11 मई को हुई SRB (सजा समीक्षा बोर्ड) की बैठक में यह सिफारिश की गई थी।


जेसिका लाल मर्डर केस में पहले ट्रायल कोर्ट ने मनु शर्मा को बरी कर दिया था। लेकिन इस में देश भर में विरोध प्रदर्शन होने के बाद हाई कोर्ट ने निचली अदालत का फैसला बदल दिया। सुप्रीम कोर्ट ने भी हाई कोर्ट के फैसले को अप्रैल 2010 में बरकरार रखा।


क्या था मामला?


साउथ दिल्ली के महरौली इलाके में कुतुब कोलोनेड में सोशलाइट बीना रमानी के "टैमरिंड कोर्ट" रेस्तरां में 30 अप्रैल 1999 को मनु शर्मा ने जेसिका लाल की सिर्फ इसलिए गोली मारकर हत्या कर दी थी, क्योंकि उसने उसे शराब देने से मना कर दिया था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।