नाराज किसानों को शांत करने के लिए सरकार ने रबी फसल की MSP 50-300 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ाई

जिन फसलों की MSP बढ़ाई जा रही है उनमें गेहूं, दाल, जौ, चना, तिलहन, सरसों शामिल है
अपडेटेड Sep 22, 2020 पर 08:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

किसान बिल पर किसानों के आक्रामक रूख के बीच सोमवार को सरकार ने रबी फसल की MSP (न्यूनतम समर्थन मूल्य) 50 रुपए से लेकर 300 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ा दिया है। आज ही कैबिनेट ने इस फैसले पर मुहर लगाई थी जिसके बाद सरकार ने इसका ऐलान किया। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ऐलान किया कि 2021-2020 के लिए रबी फसलों की MSP बढ़ा दी गई है। केंद्र सरकार ने गेहूं की MSP 50 रुपए प्रति क्विंटल बढ़ा दिया है। जबकि चने की MSP 250 रुपए और मसूर दाल की MSP 300 रुपए प्रति क्विटंल बढ़ाई गई है। सरसों की MSP मे 225 रुपए का इजाफा किया गया है।


रबी फसलों की नई MSP (न्यूनतम समर्थन मूल्य)


मसूर – Rs 5,100 प्रति क्विंटल


सरसों – Rs 4,650 प्रति क्विंटल


सूरजमुखी – Rs 5,327 प्रति क्विंटल


गेहूं – Rs 1975 प्रति क्विंटल


जौ – Rs 1,600 प्रति क्विंटल


केंद्र सरकार को उस वक्त झटका लगा जब इस किसान बिल के विरोध में लंबे समय तक BJP के सहयोगी रही अकाली दल गठबंधन से अलग हो गई है। अब नाराज किसानों को शांत करने के लिए सरकार ने 2021-2022 सीजन के लिए सरकार ने रबी की फसल की MSP बढ़ाने का फैसला किया था। जिन फसलों की MSP बढ़ाई जा रही है उनमें गेहूं, दाल, जौ, चना, तिलहन, सरसों शामिल है।


सरकार नई MSP का ऐलान सोमवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कर सकती है। इससे एक दिन पहले ही सरकार ने तमाम विरोधों के बावजूद सरकार ने विपक्ष के विरोध के बावजूद फार्मर्स प्रोड्यूस ट्रेड एंड कॉमर्स (प्रमोशनल एंड फैसिलिटेशन) बिल, 2020  और फार्मर्स (एंपावरमेंट एंड प्रोडक्शन) एग्रीमेंट ऑन प्राइस अश्योरेंस एंड फार्म सर्विस बिल, 2020 ने राज्य सभा में पास करवाया था। अब इन सभी बिल को मंजूरी के लिए राष्ट्रपति को भेज दिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।