जानिए कोरोना वायरस और चीन पर राहुल की राजनीति पर क्या बोले अमित शाह!

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी जो भी बयान दे रहे हैं वो चीन और पाकिस्तान में पसंद किए जाते हैं
अपडेटेड Jun 29, 2020 पर 08:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश में कोरना वायरस का प्रकोप तेजी से फैलता जा रहा है। इसी के साथ भारत चीन के बीच तनाव भी बढ़ता जा रहा है। कई तरह के संकट से गुजर रहे देश में सियायत की चाल कुछ अलग ही है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने न्यूज एजेंसी ANI को एक इंटरव्यू दिया है। जिसमें शाह ने देश में कोरोना वायरस के हालात और भारत चीन संबंधी मामलों, इन मामलों में राहुल गांधी की टिप्पणी पर खुलकर जवाब दिया है। शाह ने कहा है कि भारत चीन मामले में राहुल गांधी ओछी राजनीति कर रहे हैं। सरकार संसद में बहस करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि 1962 से लेकर आज तक के बीच जो हुआ उस पर दो-दो हाथ हो जाए। 


राहुल की राजनीति


केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी जो भी बयान दे रहे हैं वो चीन और पाकिस्तान में पसंद किए जाते हैं। शाह ने कहा कि हम संसद में चर्चा के लिए तैयार हैं। आप आइये 1962 से लेकर आज तक 2-2 हाथ हो जाए। चर्चा से कोई नहीं डर रहा है। राहुल गांधी को ऐसे बयान नहीं देना चाहिए जिससे चीन और पाकिस्तान खुश हों। 


कोरोना वायरस


देश में कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से फैलता जा रहा है। इसका इलाज भी काफी मंहगा है। दिल्ली में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। कोरोना मामले में अमित शाह ने कहा कि कोरोना के खिलाफ भारत ने अच्छी लड़ाई लड़ी और दुनिया के मुकाबले हमारे आंकड़े बेहतर हैं।  


पहले आइसोलेशन बेड की कीमत 24,000-25,000 थी जो अब 8,000 से 10,000 के बीच कर दी गई है। बिना वेंटिलेटर के ICU का पहले रेट 34000 रुपये से लेकर 43,000 रुपये के बीच होता था। अब इसका रेट 13,000 से 15,000 हो गया है। वेंटिलेटर के साथ ICU का रेट 44,000 से 54,000 रुपये था, जो कि अब घटकर 15,000-18,000 रुपये हो गया है। इसमें रहने, टेस्ट और दवाइयों का खर्चा शामिल है।


शाह ने कहा कि दिल्ली में 350 से ज्यादा शव (कोरोना मरीज) बिना अंतिम संस्कार के पड़े थे। हमने तय किया कि 2 दिनों के भीतर शवों का अंतिम संस्कार धर्म के अनुसार किया जाएगा। अभी कोई भी शव अंतिम संस्कार के बिना नहीं बचा है। अभी दिल्ली में ऐसी कोई स्थिति (कम्युनिटी ट्रांसमिशन) नहीं है। चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। दिल्ली में कोरोना के टेस्ट चार गुना बढ़ाए गए हैं। हर दिन 16 हजार टेस्ट हो रहे हैं।


शाह ने कहा कि दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के बयान के कारण राजधानी में कोरोना को लेकर डर पैदा हुआ है। हम कोरोना से निपटने के लिए तैयार हैं। दिल्ली सरकार की ओर से 31 जुलाई तक 5.50 लाख मामले पहुंचने की बात कही जा रही है। ऐसा दिल्ली में नहीं होगा। कोरोना के इतने मामले दिल्ली में नहीं आएंगे।


लॉकडाउन


देश में लॉकडाउन घोषित किए जाने पर शाह ने कहा कि जब देश में लॉकडाउन लागू किया गया तो सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से प्रवासी मजदूरों के रहने खाने की व्यवस्था करने के लिए कहा गया था। करीब 2.5 करोड़ लोगों की व्यवस्था की गई। राष्ट्रीय आपदा कोष से 11,000 करोड़ रुपये दिए गए। जब प्रवासी मजदूर पैदल जाने लगे तो हमें दुख हुआ। पीएम मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि नजदीकी रेलवे स्टेशनों से बसों की व्यवस्था की जाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।