कोरोना संकट के बीच LIC से मिली राहत, क्लेम सेटलमेंट हुआ आसान

पॉलिसीहोल्डर्स के नॉमिनी वैकल्पिक दस्तावेज जमा कर सकेंगे। मैच्योरिटी क्लेम के लिए पास के किसी भी LIC ऑफिस में आवेदन किया जा सकेगा
अपडेटेड May 07, 2021 पर 18:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस के मामले बढ़ने से हो रही मुश्किलों के बीच देश की सबसे बड़ी इंश्योरेंस कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) ने पॉलिसीहोल्डर्स को एक राहत दी है। LIC ने क्लेम सेटलमेंट के लिए जरूरी डॉक्युमेंट्स में छूट दी है।


LIC ने बताया कि पॉलिसीहोल्डर की मृत्यु होने की स्थिति में देरी के कारण म्युनिसिपल डेथ सर्टिफिकेट मिलने में देरी होने पर उनके नॉमिनी मृत्यु के अन्य प्रमाण दे सकेंगे।


इनमें डेथ सर्टिफिकेट और मृत्यु की तारीख और समय के साथ डेट सर्टिफिकेट शामिल होगा।


इसके अलावा क्लेम सेटलमेंट के लिए सरकार, एंप्लॉयी स्टेट इंश्योरेंस कॉरपोरेशन, सशस्त्र बलों और कॉरपोरेट हॉस्पिटल्स की ओर से जारी डेथ समरी को भी स्वीकार करेगी। इसमें मृत्यु का दिन और समय होना चाहिए।


हालांकि, इस डॉक्यूमेंट पर LIC के क्लास I अधिकारी या 10 वर्षों से अधिक के अनुभव वाले डिवेलपमेंट ऑफिसर के काउंटर साइन जरूरी होंगे। इसके साथ ही अंतिम क्रिया या दफनाने का प्रमाणपत्र भी देना होगा।


गैर-कोरोना मृत्यु मामलों में पहले की तरह म्युनिसिपल डेथ सर्टिफिकेट जरूरी होगा।


देश में अब तक कोरोना के लगभग 2.14 करोड़ मामले मिल चुके हैं और इससे 2,34,083 लोगों की मृत्यु हुई है।


LIC ने बताया कि मैच्योरिटी क्लेम्स के लिए भी कुछ छूट दी जाएगी। इनके लिए डॉक्युमेंट्स को पास के किसी भी LIC ऑफिस में जमा कराया जा सकेगा।


हाल के दिनों में कुछ इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से क्लेम सेटलमेंट को लेकर परेशान करने की शिकायतें मिली थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।