अब इस बैंक पर RBI ने लगाया प्रतिबंध, 1 हजार से ज्यादा रकम नहीं निकाल सकते खाताधारक

इस पाबंदी के कारण अब बैंक के ग्राहक 1 हजार रुपये से ज्यादा की रकम अपने बचत खाते से नहीं निकाल पायेंगे। ये बैंक आरबीआई की जांच के दायरे में है लिहाजा ये पाबंदी लगाई गई है
अपडेटेड Feb 21, 2021 पर 13:04  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश की नियामक बैंक भारतीय रिजर्व बैंक ने एक और बैंक के लेन-देन पर पाबंदी लगाई है। ये पाबंदी कर्नाटक के डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक लिमिटेड (Deccan Urban Co-operative Bank Limited) पर लगाई गई है। इस पाबंदी के कारण अब बैंक के ग्राहक 1 हजार रुपये से ज्यादा की रकम अपने बचत खाते से नहीं निकाल पायेंगे। ये बैंक आरबीआई की जांच के दायरे में है लिहाजा ये पाबंदी लगाई गई है।


आरबीआई ने स्पष्ट किया है कि जांच के इरादे से डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक पर पाबंदी जरूर लगाई गई है लेकिन बैंक का लाइसेंस रद्द नहीं किया गया है। इसका मतलब ये हुआ कि अभी ग्राहकों का पैसा पूरी तरह सुरक्षित है लेकिन वो अपनी मर्जी से पैसा निकाल नहीं सकते हैं। आरबीआई ने बैंक के ग्राहकों से अपील भी की है किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें।


RBI ने शुक्रवार को कहा कि उसने कर्नाटक के डेक्कन अरबन को-अपरेटिव बैंक लिमिटेड को नया कर्ज देने या जमा स्वीकार करने से प्रतिबंधित कर दिया है। इसके अलावा ग्राहक अपने बचत खाते से 1,000 से ज्यादा की रकम नहीं निकाल सकते हैं। यह निर्देश छह महीने के लिए है। सहकारी बैंक पर बिना पूर्व मंजूरी के कोई नया निवेश या नई देनदारी लेने पर भी रोक लगाई गई है।


केंद्रीय बैंक ने एक विज्ञप्ति में कहा, बैंक की मौजूदा नकदी स्थिति को देखते हुए जमाकर्ताओं को सभी बचत खातों या चालू खातों से 1,000 रुपये से अधिक निकालने की अनुमति नहीं दी जा सकती। आरबीआई के अनुसार ग्राहक अपने कर्ज का निपटान जमा के आधार पर कर सकते हैं। यह कुछ शर्तों पर निर्भर है। नियामक ने कहा, हालांकि 99.58 प्रतिशत जमाकर्ता जमा बीमा और ऋण गारंटी निगम बीमा निगम (डीसीजीसी) योजना के दायरे में हैं। डीसीजीसी बैंक जमा पर बीमा उपलब्ध कराता है।


फिलहाल ये पाबंदी 6 महीने के लिए लगाई गई है। आरबीआई ने कहा कि बैंक की वित्तीय स्थिति की समीक्षा (Review) की जाएगी जिसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।