PM मोदी ने नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना का किया ऐलान, खर्च होंगे 100 लाख करोड़

राष्ट्रीय इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना (National Infrastructure Pipeline Project) के लिए 100 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। करीब 7 हजार प्रोजेक्ट की पहचान (Identified) भी की जा चुकी है
अपडेटेड Aug 15, 2020 पर 23:18  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने शनिवार (India 74th Independence Day) को ऐतिहासिक लाल किले (Red Fort) की प्राचीर से देशवासियों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने आने वाले भविष्य के लिए भी कुछ योजनाओं का जिक्र किया। इस दौरान पीएम मोदी ने देश के सर्वांगीण इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए राष्ट्रीय इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना (National Infrastructure Pipeline Project) की घोषणा की और कहा कि इसके लिए 100 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि करीब 7 हजार प्रोजेक्ट की पहचान (Identified) भी की जा चुकी है।


7 हजार प्रोजेक्ट की हुई पहचान


74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर देशवासियों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा भारत को आधुनिकता की तरफ तेज गति से ले जाने के लिए, देश के इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट को एक नई दिशा देने की जरूरत है और ये जरूरत पूरी होगी National Infrastructure Pipeline Project से। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट पर देश 100 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। साथ ही अलग-अलग क्षेत्रों की करीब 7 हजार प्रोजेक्टों की पहचान भी की जा चुकी है। ये एक तरह से Infrastructure में नई क्रांति की तरह होगा। पीएम मोदी ने कहा कि Atmanirbhar Bharat का मतलब सिर्फ इंपोर्ट कम करना ही नहीं, बल्कि अपनी क्षमता, अपनी रचनात्मकता, अपने कौशल को बढ़ाना भी है।


FDI ने तोड़े सारे रिकॉर्ड


उन्होंने कहा कि सिर्फ कुछ महीने पहले तक N95 Mask, PPE Kit, वेंटिलेटर ये सब विदेशों से मंगवाए जाते थे, लेकिन आज इन सभी में भारत न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया है। पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साल भारत में FDI (Foreign direct investment) ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। उन्होंने कहा कि भारत में FDI में 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। आज दुनिया की बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां भारत का रुख कर रही हैं। हमें Make in India के साथ-साथ Make for World के मंत्र को लेकर आगे बढ़ना है।


Vocal for Local पर जोर


पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच भारतीयों ने आत्मनिर्भर होने का संकल्प लिया है और यह केवल शब्द नहीं बल्कि सभी लोगों के लिए मंत्र है। उन्होंने कहा कि आखिर भारत कब तक कच्चे माल का इंपोर्ट करेगा और तैयार उत्पादों का इंपोर्ट करेगा, भारत को आत्मनिर्भर होना होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की विश्व अर्थव्यवस्था में जो हिस्सेदारी है, वह बढ़नी चाहिए और इसके लिये हमें आत्मनिर्भर होना होगा। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कहा कि हमारा मन पूरी तरह से Vocal for Local (स्थानीय उत्पादों पर जोर देने वाला) होना चाहिए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।