Paytm ने दुकानदारों को दिया तोहफा! अब वॉलेट, UPI ऐप्स और RuPay कार्ड से पेमेंट लेने पर नहीं लगेगा कोई चार्ज

इससे Paytm इकोसिस्टम पर 1.7 करोड़ से अधिक व्यापारियों को फायदा होगा
अपडेटेड Jan 21, 2021 पर 10:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

डिजिटल पेमेंट और दिग्गज टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म पेटीएम (Paytm) ने देश के छोटे कारोबारियों को बड़ा तोहफा दिया है। अब दुकानदार पेटीएम वॉलेट (Paytm Wallet), यूपीआई ऐप्स (UPI apps) और रूपे कार्ड्स (RuPay cards) से बिना किसी शुल्क पर अनलिमिटेड पेमेंट ले सकेंगे। अब पेमेंट लेने के लिए व्यापारियों को कोई शुल्क नहीं देना होगा। कंपनी अब बिना किसी शुल्क के मर्चेंट पार्टनर्स को Paytm Wallet, UPI apps और RuPay cards से पेमेंट स्वीकार करने की अनुमति गुरुवार से दे दी है।


कोरोना महामारी और लॉकडाउन के दौरान MSME (Micro, Small and Medium Enterprises) को सपोर्ट करने के लिए Paytm, बैंकों एवं अन्य चार्जेज द्वारा सालाना मर्चेंट डिस्काउंट रेट (Merchant Discount Rate) में 600 करोड़ रुपए का खर्च वहन करेगा। Paytm ने कुछ समय पहले मर्चेंट ट्रांजेक्शन (व्यापारिक लेन-देन) पर किसी भी तरह का कोई भी शुल्क नहीं लेने का ऐलान किया था, जो अब लागू हो गया है।


कंपनी ने कहा है कि इस पहल से पेटीएम इकोसिस्टम (Paytm ecosystem) पर 1.7 करोड़ से अधिक मर्चेंट्स यानि दुकानदारों को फायदा होगा, जो अपने ग्राहकों से पेमेंट स्वीकार करने के लिए पेटीएम ऑल-इन-वनक्यूआर (Paytm All-in-One QR), पेटीएम साउंडबॉक्स (Paytm Soundbox) और पेटीएम ऑल-इन-वन एंड्रॉइड पीओएस (Paytm All-in-One Android POS) का उपयोग करते हैं। बता दें कि Paytm देश के सबसे बड़े पेमेंट सोल्यूशन्स में से एक है, जिसके बड़ी संख्या में ग्राहक मौजूद हैं।


Paytm के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कुमार आदित्य ने कहा कि हमारा मानना ​​है कि इन शुल्कों को माफ करने से सभी  MSME को लाभ होगा। यह कदम व्यापारियों को डिजिटल भुगतान के लिए भी प्रोत्साहित करेगा जो डिजिटल इंडिया मिशन को और मजबूत करेगा। व्यापारियों को यह चुनने की भी सुविधा होगी कि वे भुगतान को सीधे अपने बैंक अकाउंट या सीधे अपने Paytm Wallet में से कहां लेना चाहते हैं। कंपनी पेटीएम वॉलेट, यूपीआई, रूपे, एनईएफटी और आरटीजीएस सहित अन्य सभी तरीकों से भुगतान की स्वीकृति को बढ़ावा दे रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।