PM Jan-Dhan: जन धन अकाउंट की संख्या बढ़कर हुई 43 करोड़, अब तक 1.46 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा रकम जमा

PMJDY की घोषणा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में की थी
अपडेटेड Aug 29, 2021 पर 12:30  |  स्रोत : Moneycontrol.com

वित्त मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि प्रधान मंत्री जन धन योजना (PMJDY) के तहत बैंक खाते बढ़कर 43 करोड़ हो गए हैं। मंत्रालय ने कहा कि सरकार की प्रमुख वित्तीय समावेशन योजना के लागू होने के सात साल पूरे हो गए हैं। PMJDY की घोषणा प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में की थी और साथ ही वित्तीय लेनदने को बढ़ावा देने के लिए 28 अगस्त को शुरू किया गया था।


ये नेशनल मिशन ये सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया था कि लोगों की फाइनेंशियल सर्विस, मतलब बैंकिंग, प्रेषण, लोन, इंश्योरेंस, पेंशन तक किफायती तरीके से पहुंच हो। 18 अगस्त, 2021 तक कुल PMJDY अकाउंट की संख्या 43.04 करोड़ थी।


वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इसमें से 55.47 प्रतिशत (23.87 करोड़) जन-धन अकाउंट होल्डर महिलाएं हैं और 66.69 प्रतिशत (28.70 करोड़) अकाउंट होल्डर्स ग्रामीण और अर्ध-शहरी (Semi-Urban) क्षेत्रों में हैं। योजना के पहले साल के दौरान, 17.90 करोड़ PMJDY अकाउंट खोले गए।


बयान के अनुसार, कुल 43.04 करोड़ PMJDY अकाउंट में से 36.86 करोड़ या 85.6 प्रतिशत चालू हैं और प्रति खाता औसत जमा 3,398 रुपए है। औसत जमा में बढ़ोतरी अकाउंट्स के बढ़ते इस्तेमाल और अकाउंट होल्डर्स में बचत की आदत का एक और संकेत है।


PMJDY खाताधारकों को जारी किए गए कुल RuPay कार्ड बढ़कर 31.23 करोड़ हो गए। 28 अगस्त, 2018 के बाद खोले गए खाते के लिए RuPay कार्ड पर मुफ्त दुर्घटना बीमा कवर एक लाख रुपए से बढ़ाकर दो लाख रुपए कर दिया गया है।


इस मौके पर प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, "आज हम PM Jan Dhan के सात साल पूरे कर रहे हैं, ये एक ऐसी पहल है, जिसने भारत के विकास पथ को हमेशा के लिए बदल दिया है। इसने अनगिनत भारतीयों के लिए वित्तीय समावेशन और गरिमापूर्ण जीवन के साथ-साथ सशक्तिकरण किया है। जन धन योजना ने और भी पारदर्शिता में मदद की है।"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।