PM बोले- सभी को वैक्सीन उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता, प्रधानमंत्री ने समझाया पूरा प्‍लान

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि वैक्सीन सभी वैज्ञानिक मापदंडों की कसौटियों पर खरी उतरे
अपडेटेड Nov 25, 2020 पर 08:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उन आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और के साथ वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से बैठक कर कोरोना वायरस (कोविड-19) की ताजा स्थिति की समीक्षा की जहां हाल के दिनों में संक्रमण के मामलों में तेजी आई है। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बधेल और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने हिस्सा लिया।


इस दौरान प्रधानमंत्री ने कोरोना वैक्‍सीन को लेकर राज्‍यों को केंद्र की तैयारियों की जानकारी दी। उन्‍होंने कोरोना वैक्‍सीन को लेकर कहा कि सरकार ने विस्‍तृत योजना बनाई है। पीएम मोदी ने कदम-दर-कदम टीकाकरण अभियान के बारे में जानकारी दी। उन्‍होंने समझाया कि कैसे वैक्‍सीन देशवासियों को उपलब्‍ध कराई जाएगी। केंद्र की ओर से लगातार यह प्रयास भी हो रहे हैं कि जब भी कोरोना का टीका उपलब्ध होगा, उसके सुचारू वितरण की व्यवस्था हो सके। वैक्‍सीन प्राथमिकता के साथ किसे लगाई जाएगी, ये राज्‍यों के साथ मिलकर मोटा-मोटा खाका आपके सामने रखा गया है।


सभी देशवासियों को वैक्सीन उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार कोरोना वैक्सीन विकसित किए जाने की प्रक्रिया पर कड़ी नजर रख रही है और सभी देशवासियों को इसे आसानी से उपलब्ध कराना उसकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि जिस तरह कोरोना महामारी के खिलाफ अभियान में हर जान को बचाना सरकार की प्राथमिकता रही है, वहीं अब भी उसका जोर वैक्सीन उपलब्ध कराकर हर व्यक्ति का जीवन बचाने पर रहेगा। पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन के प्रतिकूल प्रभावों को लेकर अफवाह फैलायी जा सकती हैं, इसलिए सरकारी मशीनरी और अन्य सभी को मिलकर लोगों को वास्तविक स्थिति के प्रति जागरूक करना होगा।


विभिन्न राज्यों में कोरोना संक्रमण बढने के मद्देनजर पीएम मोदी ने ज्यादा प्रभावित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कोविड संक्रमण की स्थिति, उससे निपटने की तैयारियों तथा प्रबंधन पर विशेष रूप से चर्चा की गई। साथ ही वैक्सीन की आपूर्ति, वितरण और उसे लोगों को देने जैसे मुद्दों पर भी विस्तार से बातचीत हुई। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार वैक्सीन विकसित किए जाने की प्रक्रिया पर कड़ी नजर रख रही है और वह इस सिलसिले में भारतीय कंपनियों के साथ साथ वैश्विक नियामकों, अन्य देशों , बहुपक्षीय संस्थानों तथा अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों से भी संपर्क बनाए हुए है।


वैज्ञानिक मापदंडों की कसौटियों पर खरी उतरे वैक्सीन


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि वैक्सीन सभी वैज्ञानिक मापदंडों की कसौटियों पर खरी उतरे। सरकार की प्राथमिकता शुरू से ही हर व्यक्ति की जान बचाने की है और उसका जोर इस बात पर रहेगा कि वैक्सीन की पहुंच हर नागरिक तक बने। उन्होंने कहा कि सरकारों को सभी स्तर पर मिलकर काम करना होगा, जिससे यह सुनिश्चित किया जा सके कि वैक्सीन अभियान सुगम, व्यवस्थित तथा निरंतर बने। प्रधानमंत्री ने कहा कि वैक्‍सीन को लेकर हमारे पास जैसा अनुभव है, वो दुनिया के बड़े-बड़े देशों के पास नहीं है। हमारे लिए जितनी जरूरी स्‍पीड है, उतनी ही जरूरी सेफ्टी भी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।