गरीब कल्याण रोजगार अभियान: पीएम 20 जून को प्रवासी मजदूरों के लिए लॉन्च करेंगे यह योजना

लॉकडाउन की वजह से बेरोजगार हुए प्रवासी मजदूरों के लिए पीएम मोदी ने यह योजना लॉन्च की है
अपडेटेड Jun 19, 2020 पर 09:22  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पीएम नरेंद्र मोदी 20 जून को गरीब कल्याण रोजगार अभियान ( Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan) लॉन्च करने वाले हैं। इसका मकसद ग्रामीण इलाकों में लोगों को रोजगार मुहैया कराना है। कोरोनावायरस लॉकडाउन की वजह से लाखों में प्रवासी मजदूर अपने राज्य लौटने को मजबूर हुए हैं। जहां उनके पास रोजगार का कोई साधन नहीं है। ऐसे में सरकार खासतौर पर उन्हें ध्यान में रखते हुए गरीब कल्याण रोजगार अभियान ( Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan) लॉन्च करने वाली है।


गरीब कल्याण रोजगार अभियान ( Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan) में क्या है खास?


इस अभियान की शुरुआत बिहार के खगड़िया जिले के बेलदौर ब्लॉक के तेलिहार गांव से शुरू होगी। यह योजना 50,000 करोड़ रुपए की होगी।


इस योजना की वर्चुअल लॉन्चिंग में पांच अन्य राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।


इन छह राज्यों के करीब 116 जिले कृषि विज्ञान केंद्र और कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए प्रोग्राम का हिस्सा बनेंगे। इसमें Covid-19 के Social Distancing के प्रोटोकॉल का भी ध्यान रखा जाएगा।


गरीब कल्याण रोजगार अभियान: मिशन मोड कैंपेन


125 दिनों तक चलने वाला यह कैंपेन मिशन की तरह काम करेगा। इसके जरिए प्रवासी मजदूरों के लिए 25 तरह के काम के विकल्प होंगे। इससे एक तरफ प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिलेगा और दूसरी तरफ ग्रामीण इलाकों में इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार होगा।


सरकार ने अभी इस अभियान के लिए 116 जिलों के करीब 25,000 प्रवासी मजदूरों को इसमें शामिल किया है। ये मजदूर बिहार, यूपी, मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड और ओडिशा से चुने गए हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।