आखिरकार बाइडन को सत्ता सौंपने के लिए तैयार हुए ट्रंप, फिर भी हार मानने से कर रहे हैं इनकार

जनरल सर्विस ऐडमिनिस्ट्रेशन यानी GSA ने जो बाइडन को विजेता के तौर पर स्वीकार कर लिया है
अपडेटेड Nov 25, 2020 पर 11:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने आखिरकार व्हाइट हाउस (White House) छोड़ने के संकेत दिए हैं। ट्रंप ने मान लिया है कि नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) को सत्ता सौंपने की औपचारिक प्रक्रिया शुरू हो जानी चाहिए। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि सत्ता हस्तांतरण की निगरानी करने वाली अहम फेडरल एजेंसी GSA (General Services Administration) को वो चीजे करनी चाहिए जो जरूरी हैं। हालांकि, ट्रंप ने अभी भी अपनी लड़ाई जारी रखने की बात कही है। दूसरी तरफ, जनरल सर्विस ऐडमिनिस्ट्रेशन यानी GSA ने जो बाइडन को विजेता के तौर पर स्वीकार कर लिया है।


सोमवार को अगले राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के प्रशासन के लिए रास्ता बनाने वाली सरकारी एजेंसी ने कहा कि वो सत्ता हस्तांतरण में लगाए गए रोक को आखिरकार हटा रही है। इसके बाद ट्रंप ने भी संकेत दिए कि अब जनरल सर्विसेज एडमिनिस्ट्रेशन को वो करना चाहिए जो करने की जरूरत है। इस तरह ट्रंप, जो बाइडन से अपनी जीत स्वीकार करने के बिल्कुल करीब आ गए हैं। हालांकि, उसी ट्वीट में उन्होंने फिर एक बार यह कहा कि वो हार मानने से इनकार कर रहे हैं। ट्रंप ने कहा कि हमारा केस मजबूती से चल रहा है। हम अच्छी लड़ाई जारी रखेंगे और मुझे विश्वास है कि हम जीतेंगे।


GSA एमिली मर्फी द्वारा नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन को पत्र लिख कर ट्रंप प्रशासन के आधिकारिक तौर पर सत्ता हस्तांतरण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए तैयार होने की जानकारी देने के कुछ घंटों बाद ट्रंप ने इस संबंध में ट्वीट किया। ट्रंप ने ट्वीट किया, मैं GSA की एमिली मर्फी का देश के प्रति उनके समर्पण और निष्ठा के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। उनको परेशान किया गया, धमकाया गया और गालियां दी गई... और मैं नहीं चाहता कि यह उनके, उनके परिवार या GSA के किसी भी कर्मचारी के साथ हो। हमारी लड़ाई जारी रहेगी और मुझे विश्वास है कि हम जीतेंगे।


हालांकि, रिपब्लिकन प्रशासन का GSA को आगे की कार्रवाई करने और बाइडन प्रशासन के साथ काम करने की अनुमति देने से साफ है कि ट्रंप को भी आखिर अंत करीब नजर आ गया है। हालांकि, पिछले तीन हफ्तों से वो बिना किसी सबूत के यह दावे बार-बार कर रहे हैं कि उनसे यह चुनाव चुराए गए हैं।
अब इसका मतलब है कि बाइडन की टीम को फंड, ऑफिस स्पेस और फेडरल अधिकारियों से मिलने का अधिकार मिल जाएगा। निवर्तमान राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे देश के हित में, मैं एमिली और उनके दल को प्रारंभिक प्रोटोकॉल के संबंध में जो किया जाना चाहिए, उसे करने का सुझाव देता हूं और मैंने अपनी टीम से भी यही कहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।