Punjab Congress Crisis: कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा, कहा- मैंने अपमानित महसूस किया

कैप्टन ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्हें जिसपर विश्वास है उसे मुख्यमंत्री बनाएं
अपडेटेड Sep 19, 2021 पर 12:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

तमाम कयासों के बीच पंजाब (Punjab) के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने इस्तीफा दे दिया है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ के राजभवन में राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को इस्तीफा सौंपा। पंजाब सीएम के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने कहा कि CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें और उनके मंत्रिपरिषद का इस्तीफा सौंप दिया है। वह अब से कुछ ही मिनटों में राजभवन गेट पर मीडिया को संबोधित करेंगे। कैप्टन के बेटे ने भी इसकी पुष्टि की।


राजभवन से इस्तीफा देकर निकले कैप्टन अमरिंदर सिंह काफी नाराज दिखे, यहां तक कि उन्होंने ये भी कहा कि उन्होंने खुद को अपमानित महसूस किया। कैप्टन ने कहा, "जिस तरह से बातचीत हुई उससे मैं खुद को अपमानित महसूस कर रहा हूं। मैंने आज सुबह कांग्रेस अध्यक्ष से बात की, उनसे कहा कि मैं आज इस्तीफा दे दूंगा ... हाल के महीनों में ये तीसरी बार है, जब मैं विधायकों से मिला हूं... इसलिए मैंने छोड़ने का फैसला किया।"


अमरिंदर सिंह ने कहा कि पिछले कुछ महीनों मे तीसरी बार ये हो रहा है कि विधायकों को दिल्ली में बुलाया गया। मैं समझता हूं कि अगर मेरे ऊपर कोई संदेह है, मैं सरकार चला नहीं सका, जिस तरीके से बात हुई है मैं अपमानित महसूस कर रहा हूं।


उन्होंने आगे कहा, "मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्हें (कांग्रेस अध्यक्ष) जिसपर विश्वास है, उसे मुख्यमंत्री बनाए।" कैप्टन ने आगे कहा कि मैं कांग्रेस पार्टी में हूं, अपने समर्थकों से परामर्श करूंगा और भविष्य की कार्रवाई तय करूंगा।


अमरिंदर सिंह ने ये भी कहा कि मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है। फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा मैं उसका इस्तेमाल करूंगा।


अमरिंदर सिंह के खिलाफ राज्य में कांग्रेस विधायकों के एक वर्ग के "भारी" दबाव का सामना करते हुए, पार्टी आलाकमान ने शनिवार को कांग्रेस विधायक दल (CLP) की एक तत्काल बैठक बुलाई थी। इससे पहले दोपहर दो बजे कैप्टन न भी विधायकों की एक बैठक बुलाई थी, जिसके बाद उन्होंने राजभवन जाकर इस्तीफा सौंपा है।




इससे पहले खबर आई थी कि पार्टी हाईकमान ने अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने और किसी नए चेहरे को चुनने के लिए रास्ता निकालने के लिए कहा था। रिपोर्ट के मुताबिक, अमरिंदर सिंह ने प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया और पार्टी प्रमुख से कहा था कि वह इसके बजाय पार्टी से इस्तीफा दे देंगे।


मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की सोनिया गांधी को दो टूक शब्दों में कहा अगर इस तरह से लगातार उन्हें जलील किया जाएगा, तो वे कांग्रेस पार्टी से ही किनारा कर लेंगे। अटकलें ये भी थीं कि कैप्टन अमरिंदर सिंह आज ही कांग्रेस पार्टी भी छोड़ सकते हैं।


वहीं सूत्रों के मुताबिक, पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़, जो कभी मुख्यमंत्री के सहयोगी रहे हैं, शीर्ष पद के लिए उनका नाम चर्चाओं में है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।