कामधेनु डेयरी योजना के तहत राजस्थान की सरकार दे रही है 90% तक लोन, ऐसे उठाएं फायदा

कामधेनु डेयरी योजना के तहत किसानों और पशुपालकों को कुल लागत का 90 फीसदी तक लोन दे रही है राजस्थान सरकार
अपडेटेड Jun 08, 2020 पर 11:58  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच पशुपालकों और किसानों के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने कई अहम फैसले लिए हैं। इसी दिशा में राजस्थान की सरकार एक नई स्कीम लेकर आई है। राजस्थान सरकार की इस स्कीम का नाम कामधेनु डेयरी योजना (Kamdhenu Dairy Scheme)


राज्य सरकार देसी गायों की डेयरी लगा रही है और इस खास कामधेनु डेयरी योजना के तहत किसानों और पशुपालकों को कुल लागत का 90 फीसदी तक लोन भी दिया जा रहा है। अगर किसान और पशुपालक अपना लोन समय पर चुका देते हैं तो उन्हें ब्याज पर 30 फीसदी तक की सब्सिडी दी जाएगी।


राजस्थान सरकार के इस पहल का मकसद लॉकडाउन के दौरान किसानों और पशुपालकों सहित दूसरे लोगों को रोजगार मुहैया कराना है।


कैसे करें आवेदन?


राज्य का कोई किसान और पशुपालक अगर इस स्कीम का फायदा उठाना चाहता है तो उसे 30 जून 2020 तक अप्लाई करना होगा। राजस्थान सरकार के पशुपालन विभाग की प्रजनन नीतियों के मुताबिक सरकार आवेदकों का चयन करेगी। इस स्कीम के तहत जो डेयरी खोले जाएंगे उनमें 30 देसी गाय होंगी जिनकी दूध देने की क्षमता बेहतर हो। अगर आप भी कामधेनु डेयरी योजना के तहत लोन लेना चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक करके फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं।


इस स्कीम के लिए कुछ जरूरी शर्तें हैं।


किसान या पशुपालक के पास चारागाह के लिए 1 एकड़ जमीन होनी चाहिए।


इस प्रोजेक्ट की लागत 36 लाख है जिसका 10 फीसदी आवेदक को खुद जमा करना होगा। बाकी 90 फीसदी रकम बैंक से लोन मिलेगा।


समय पर लोन चुकाने वालों को 30 फीसदी सब्सिडी का फायदा मिलेगा।


आवदेक को दूध या डेयरी कारोबार में 3 साल का अनुभव होना चाहिए।


ज्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।