RBI ने चेक से लेनदेन का नियम बदला, जानिए क्या हैं नए बदलाव

RBI ने 50,000 रुपए या उससे ज्यादा वैल्यू वाले सभी चेक के लिए Positive Pay सिस्टम शुरू करने का फैसला किया है
अपडेटेड Aug 07, 2020 पर 08:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अगर आप 50 हजार रुपये से अधिक का लेन-देन बैंक चेक (Bank Cheque) के माध्यम से करते हैं तो यह खबर आपके लिए जरूरी है। दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने चेक से जुड़ी धोखाधड़ी की घटनाओं को कम करने के लिए हाई वैल्यू चेक क्लियरिंग (High value cheque clearing) के नियमों में बदलाव किया है। RBI ने यह फैसला चेक भुगतान में ग्राहकों की सुरक्षा बढ़ाने के उद्देश्य से किया है। नए नियमों के मुताबिक, 50 हजार रुपये या उससे अधिक के सभी चेक के लिए पॉजिटिव पे (Positive Pay) सिस्टम शुरू करने का फैसला किया गया है।

Positive Pay सिस्टम के तहत चेक जारी करने के समय ग्राहकों से पूरी जानकारी मांगी जाएगी। वहीं, भुगतान करने से पहले बैंक ग्राहकों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर छानबीन करेंगे और उसके बाद ही पैसों का भुगतान किया जाएगा। इससे चेक से संबंधित धोखाधड़ी (cheque fraud) रोकने में मदद मिलेगी। यह सिस्टम देशभर में जारी किए गए कुल चेक के 20% वैल्यूम को कवर करेगा और वैल्यू के आधार पर चेक से लेनदेन की 80% राशि इसके दायरे में आ जाएगी। RBI ने कहा कि इस उद्देश्य के लिए जल्द ही परिचालन संबंधी दिशा-निर्देश (Guidelines) जारी किए जाएंगे।

ऐसे काम करेगा नया सिस्टम?

पॉजिटिव पे सिस्टम (Positive Pay system) के तहत, लाभार्थियों को चेक सौंपने से पहले खाताधारक द्वारा जारी किए गए चेक का विवरण जैसे चेक नंबर, चेक डेट, Payee नाम, खाता नंबर, रकम आदि के साथ चेक के सामने और रिवर्स साइड की फोटो साझा करनी होगी। जब लाभार्थी cheque को इनकैश (incash) करने के लिए जमा करेगा तो बैंक Positive Pay system के जरिए प्रदान किए गए चेक डिटेल्स देखेगा। अगर डिटेल्स मेल खाएंगे तो ही चेक क्लीयर (cheque clearance) होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://ttter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।