Gudiya Case: स्कूली छात्रा से रेप और हत्या के मामले में शिमला के 28 वर्षीय शख्स को आजीवन कारावास

अदालत ने लकड़हारे अनिल कुमार उर्फ नीलू पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया
अपडेटेड Jun 18, 2021 पर 21:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

शिमला में चार साल पहले स्कूल की एक छात्रा (Gudiya Case) से रेप और हत्या के मामले में शुक्रवार को एक व्यक्ति को मौत होने तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई। स्थानीय अदालत ने 28 वर्षीय अनिल कुमार को जुलाई, 2017 में 16 वर्षीय गुड़िया के साथ रेप और हत्या के आरोप में आजीवन कारावास की सजा सुनाई।


अदालत ने लकड़हारे अनिल कुमार उर्फ नीलू पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। विशेष न्यायाधीश राजीव भारद्वाज ने दोषी की मौजूदगी में यह आदेश सुनाया। अदालत ने इससे पहले 28 अप्रैल को स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म और हत्या के मामले में अनिल को दोषी ठहराया था।


आपको बता दें कि चार जुलाई, 2017 को शिमला के कोटखाई में एक जंगली इलाके में बलात्कार के बाद छात्रा की हत्या उस वक्त कर दी गई थी, जब वह स्कूल से घर जा रही थी। नाबालिग लड़की के लिए न्याय की मांग करते हुए उस दौरान लोगों ने पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन किया था।


लकड़हारे नीलू को इस तथ्य के आधार पर दोषी ठहराया गया था कि उसके खून के नमूने का डीएनए निजी अंगों पर वीर्य से मेल खाया था और पीड़ित के कपड़े और उसके कपड़ों से मिट्टी के नमूने का मिलान उस जगह से लिया गया था जहां से गुड़िया का शव बरामद किया गया। इसके अलावा, फोरेंसिक जांच से पता चला कि मृतक के शरीर पर काटने के निशान भी नीलू के ही थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।